खाद की किल्लत से जूझ रहे MP के किसान, डिंडौरी में किया चक्का जाम, दिग्विजय सिंह ने उठाए सवाल

खाद न मिलने से गुस्साए किसान मंडला-डिंडौरी मार्ग में सड़क पर बैठ गए, इस दौरान वहां जाम की स्थिति उत्पन्न हो गई, काफी देर बाद किसानों का प्रदर्शन रुका

Updated: Jul 20, 2022, 09:24 AM IST

खाद की किल्लत से जूझ रहे MP के किसान, डिंडौरी में किया चक्का जाम, दिग्विजय सिंह ने उठाए सवाल

डिंडौरी। मध्य प्रदेश के किसान एक बार फिर खाद की गंभीर किल्लत से जूझ रहे हैं। प्रदेशभर में डीएपी के साथ यूरिया खाद की कमी है। खाद न मिलने से गुस्साए किसानों ने मंगलवार को डिंडौरी में विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान घंटे से डिंडोरी से मंडला मार्ग बाधित रहा। किसान मुख्य मार्ग में बैठकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन कर रहे थे।

प्रदर्शन कर रहे किसान मंडला बस स्टैंड में संचालित विपणन संघ के गोदाम से खाद न मिलने से गुस्साए हुए थे। इस दौरान सड़क जाम की सूचना मिलने पर सिटी कोतवाली पुलिस यातायात पुलिस और तहसीलदार, कृषि विभाग के अधिकारियों ने पहुंच कर किसानों को समझाइश दी। इसके बाद किसान माने और सड़क से उठ गए।

बता दें कि विपणन संघ गोदाम में लगभग एक माह से प्रतिदिन जिले भर के किसान खाद लेने पहुंच रहे हैं। लेकिन यहां किसानों को खाद के बजाय टोकन दिया जा रहा है। किसानों का कहना है कि गोदाम प्रभारी द्वारा किसानों को केवल टोकन दिया जा रहा है। किसान खेत मे फसल डाल चुका है अब फसल को खाद की आवश्यकता है। महीनों से किसान चक्कर लगा लगाकर परेशान हैं।

प्रदर्शनकारी किसानों को कृषि उप संचालक ने आश्वासन दिया है कि दो दिन में खाद मिल जाएगी। अगर दो दिन बाद खाद नहीं मिलती तो किसान फिर से सड़क करेंगे। खाद की किल्लत को लेकर पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने शिवराज सरकार को निशाने पर लिया है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि, 'पूरे प्रदेश में हर साल किसानों की खाद की क़िल्लत होती है। सरकार कहती है पर्याप्त खाद है। फिर खाद कहॉं जाता है? निजी व्यापारियों और भाजपा समर्थित बड़े किसानों के गोदामों में। जब तक खाद की कमी नहीं होगी तब तक काला बाजारी कैसे होगी? यह सब भाजपा की पैसे कमाने की प्रायोजित नीति है।'