हट जाओ वरना जेसीबी चलवा दूंगा, बीजेपी सासंद के पति का आदिवासियों को धमकी

अनूपपुर सांसद के पति ने आदिवासियों से कहा कि अब तुम इस जमीन से हट जाओ नहीं तो मैं जेसीबी से मकान तोड़ दूंगा, क्योंकि मैने इसे खरीद लिया है।

Updated: Jan 11, 2023, 03:10 PM IST

हट जाओ वरना जेसीबी चलवा दूंगा, बीजेपी सासंद के पति का आदिवासियों को धमकी

अनूपपुर। मध्य प्रदेश में आदिवासियों के साथ उत्पीड़न में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। आदिवासी गौरव के नाम पर इवेंट करने वाली सत्ताधारी दल के लोग भी आदिवासियों का उत्पीड़न करने में पीछे नहीं हैं। अनूपपुर से बीजेपी सांसद हिमाद्री सिंह के पति नरेंद्र मरावी ने आदिवासियों को अपना घर खाली करने की धमकी देते हुए कहा कि हट जाओ वरना जेसीबी चलवा दूंगा।

नरेंद्र मरावी और आदिवासी समाज के लोगों के बीच बहस का वीडियो सामने आया है। इसमें आदिवासी समाज के लोगों ने नरेंद्र मरावी पर बलपूर्वक आवासीय प्लॉट को नाम कराने का आरोप लगाया है। वीडियो में देखा जा सकता है कि आदिवासी समुदाय के लोग नरेंद्र मरावी के हाथ और पैर जोड़ते हुए कहा कि यह तरीका गलत है। 

स्थानीय आदिवासी लोग मरावी से कहते हैं कि, 'यह हमारी जमीन है और हम इस पर कब्जा नहीं होने देंगे। हमारे साथ अन्याय नहीं करिए। आपने जब जमीन अपने नाम कराई और जमीन को नपाया तो उस समय भी कोई नोटिस हमें नहीं दिया था। आप खाली जमीन पर कब्जा नहीं करिए। यह हमारे उपयोग के लिए है।' इस दौरान एक आदिवासी महिला इस पूरी बातचीत का वीडियो बना रही थी। इस पर पूर्व अध्यक्ष नरेंद्र मरावी ने मना किया। जब महिला ने वीडियो बनाना बंद नहीं किया, तो उन्होंने चिल्लाते हुए कहा कि ज्यादा होशियार मत बनो।

यह भी पढ़ें: करणी सेना का आंदोलन चौथे दिन भी जारी, शेरपुर ने दिलाई कसम- जिंदगी में कभी बीजेपी को वोट नहीं देना

स्थानीय लोगों ने बताया कि बताया कि अति गरीब आदिवासियों के भूमिहीन होने की वजह से मध्य प्रदेश शासन ने आवासी प्लाट में शासन की राशि से मकान बनाकर दिया था। हम इन मकानों में 1984-86 से रहते आ रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि नरेन्द्र सिंह मरावी आदिवासियों का शोषण कर रहे हैं। सांसद पति अपने पद का दुरूपयोग कर रहे हैं।

शासन ने नल-जल योजना के जरिए घरों में जल कनेक्शन दिया है। जल कनेक्शन की पाईप लाईन को जेसीबी से तोड़-फोड़ दिया है, जिससे अब जल वितरण में समस्या का सामना करना पड़ रहा है। मकानों को बल पूर्वक तोड़ा जा रहा है और छल से इंदिरा आवासी प्लाट की रजिस्ट्री भी नरेन्द्र सिंह मरावी ने करा ली है।

भगवती मानव कल्याण संगठन के कार्यकर्ताओं बताया कि हमने नरेंद्र मरावी के खिलाफ राज्यपाल के नाम ज्ञापन दिया है। ज्ञापन में मांग की है कि जल्द इस मामले में कार्रवाई करें। उन्होंने बताया कि मकान को नरेन्द्र सिंह मरावी अपने साथ अज्ञात 10-15 को लेकर आवास प्लाट में बने मकानों को जेसीबी से गिराने शुरू कर दिया है। आदिवासी समाज के लोग मना किया तो नरेंद्र मरावी ने कहा कि अब इस जमीन से हट जाओ नहीं तो मैं जेसीबी से मकान तोड़ दूंगा।