फिर नाले में उतरे ऊर्जा मंत्री तोमर, कांग्रेस बोली- प्रदेश में बिजली गुल, नाकामी छिपाने के लिए नाला ही सहारा

अपने विधानसभा क्षेत्र में फिर नाला साफ करने निकले मध्य प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर, कांग्रेस का तंज, नाकामियों को छिपाने के लिए नाला ही है सहारा

Updated: Sep 26, 2021, 02:37 PM IST

फिर नाले में उतरे ऊर्जा मंत्री तोमर, कांग्रेस बोली- प्रदेश में बिजली गुल, नाकामी छिपाने के लिए नाला ही सहारा
Photo Courtesy: Bhaskar

ग्वालियर। अपने अजीबोगरीब कारनामों को लेकर चर्चा बटोरने वाले मध्य प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर एक बार फिर सुर्खियों में हैं। ऊर्जा मंत्री तोमर शनिवार को एक बार फिर नाले में उतर गए। उन्होंने नहर निगम के काम को आसान करते हुए अपने विधानसभा क्षेत्र में काफी देर तक नाले की सफाई की। कांग्रेस ने इसे पब्लिसिटी स्टंट करार देते हुए कहा है कि नाकामियों को छिपाने के लिए तोमर के पास नाला ही सहारा है।

दरअसल, ऊर्जा मंत्री तोमर अपने विधानसभा क्षेत्र ग्वालियर में लोगों की परेशानियां जानने निकले थे। इस दौरान उन्होंने देखा कि नाले भरे हुए हैं और शाम का समय होने के कारण जगह-जगज कूड़े भी थे। इसके बाद ऊर्जा मंत्री ने तत्काल फावड़ा मंगवाकर शहर के वार्ड नंबर 1 में मोर्चा संभाला। ऊर्जा मंत्री ने हाथ का आस्तीन चढ़ाया और काफी देर तक नाले में फावड़ा मारते रहे। स्थानीय लोगों के मुताबिक नाला साफ करते हुए उन्होंने कहा कि मेरे क्षेत्र में बहुत लापरवाही है। बताया जा रहा है कि ऊर्जा मंत्री ने नगर निगम के अधिकारियों को फोन पर फटकार भी लगाई। 

कांग्रेस ने मंत्री तोमर को अपनी जिम्मेदारियों पर ध्यान देने की नसीहत दी है। ग्वालियर दक्षिण से कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने कहा कि, 'प्रदेश भर में बिजली गुल है। जनता अत्याधिक बिजली बिलों से परेशान है। लेकिन ऊर्जा मंत्री अपने विभाग का काम छोड़कर नगर निगम का काम पूरा करने में व्यस्त हैं। खुद की नाकामियों को छिपाने के लिए ऊर्जा मंत्री के पास नाला ही एकमात्र सहारा बचा है।' पाठक ने आरोप लगाया कि जनता का आवश्यक मुद्दों से ध्यान भटकाने के बीजेपी के नेता और मंत्री इस तरह की पब्लिसिटी स्टंट करते हैं।

यह भी पढ़ें: मिहिर भोज की प्रतिमा पर विवाद बरकरार, शिलापट्टिका ढंकने गई प्रशानिक टीम पर पथराव, ASP घायल

बता दें की यह पहला मौका नहीं है जब ऊर्जा मंत्री तोमर नाले में उतरे हैं, बल्कि पहले भी वह मंत्री रहते हुए नालों में कूद चुके हैं। हाल ही में उन्होंने बिजली के खंभे पर चढ़कर की खूब सुर्खियां बटोरी थी।