ग्वालियर: कालीचरण की गिरफ्तारी के विरोध में कट्टरपंथियों ने फूंका भूपेश बघेल का पुतला

कालीचरण की गिरफ्तारी से कट्टरपंथियों में रोष, ट्विटर पर सुबह से आईटी सेल ट्रेंड करवा रही है रिलीज कालीचरण हैशटैग, ग्वालियर में हिंदू महासभा ने फूंका छत्तीसगढ़ सीएम का पुतला

Updated: Dec 30, 2021, 05:05 PM IST

ग्वालियर: कालीचरण की गिरफ्तारी के विरोध में कट्टरपंथियों ने फूंका भूपेश बघेल का पुतला

ग्वालियर। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को गाली देने वाले कालीचरण की गिरफ्तारी पर कट्टरपंथी संगठनों में रोष देखने को मिल रहा है। गुरुवार सुबह से ही कट्टरपंथी संगठनों से जुड़े आईटी सेल के लोग ट्विटर पर रिलीज कालीचरण हैशटैग चला रहे हैं। ट्विटर पर यह हैशटैग टॉप ट्रेंडिंग है। इसी बीच मध्य प्रदेश के ग्वालियर में कुछ कट्टरपंथियों ने छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल का पुतला दहन किया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक सीएम भूपेश बघेल का पुतला दहन करने वालों में हिंदू महासभा के लोग शामिल हैं। हिंदू महासभा ने इस दौरान गोडसे के समर्थन में नारेबाजी भी की। हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ जयवीर भारद्वाज ने इस दौरान कहा कि प्रदेश में एक संत की गिरफ्तारी हो जाती है और प्रदेश के मुख्यमंत्री से लेकर गृहमंत्री सोते रहते हैं। हम साधु संतों का अपमान नहीं सहेंगे।

इतना ही नहीं भारद्वाज ने कहा कि महात्मा गांधी हत्याकांड में संलिप्त आजीवन सजा काटने वाले डॉक्टर दत्तात्रेय परिचुरे की पुण्यतिथि के मौके पर ग्वालियर स्थित हिंदू महासभा कार्यालय में कल उनकी तस्वीर लगाकर पूजा-अर्चना की जाएगी। उन्होंने सीएम बघेल को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर छत्तीसगढ़ सरकार में हिम्मत है तो हमें रोक कर दिखाए।

बता दें कि रायपुर में 25 और 26 दिसंबर को धर्म संसद आयोजित की गई थी। इसको दौरान कालीचरण ने महात्‍मा गांधी के हत्‍यारे नाथूराम गोडसे की तारीफ की थी और महात्‍मा गांधी पर अभद्र टिप्‍पणी की थी। वीडियो सामने आने के बाद देशभर के लोग आक्रोशित हो गए और कालीचरण की गिरफ्तारी की मांग होने लगी। उधर कालीचरण भागकर मध्य प्रदेश पहुंच गया ताकि छत्तीसगढ़ पुलिस उसे न पकड़ सके।

यह भी पढ़ें: गालीबाज संत कालीचरण की गिरफ्तारी पर बिफरे MP के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, बोले- ये क्या तरीका है

हालांकि, कालीचरण के सभी पैंतरे नाकाम रहे और छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम ने मध्य प्रदेश में आकर उसे गिरफ्तार कर लिया और कानों कान एमपी के अधिकारियों को खबर भी नहीं लगी। हैरानी की बात ये है कि जहरीला बयान देने वाले कालीचरण की गिरफ्तारी पर मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी आपत्ति जताई है। मिश्रा ने रायपुर पुलिस की कार्रवाई को प्रोटोकॉल का उल्लंघन करार दिया है।