पंडोखर सरकार से सिंधिया खेमे की इमरती ने पूछा हार का कारण, बाबा बोले- भाजपा वालों ने ही हराया

ग्वालियर में लगे पंडोखर सरकार के दरबार में पहुंची इमरती देवी ने बाबा से सवाल किया कि वह किस वजह से चुनाव हार गई थी, जिस पर पंडोखर सरकार ने कहा कि आप आपकी ही पार्टी के एक नेता की वजह से चुनाव हार गई थी।

Updated: Nov 05, 2022, 04:19 PM IST

पंडोखर सरकार से सिंधिया खेमे की इमरती ने पूछा हार का कारण, बाबा बोले- भाजपा वालों ने ही हराया

ग्वालियर। मध्य प्रदेश में चुनाव नजदीक आते ही अब नेताओं का तांता बाबाओं के धाम पर लगने लगा है। इसी कड़ी में ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी नेताओं में से एक इमरती देवी पंडोखर दरबार में पहुंची। पूर्व मंत्री ने यहां चुनाव हारने का कारण पूछा तो बाबा ने कहा गया कि बीजेपी वालों ने तुम्हें चुनाव हराया है।

ग्वालियर के हरिशंकरपुरम में जयाकुमारी की श्रीमद भागवत कथा था। यहां पंडोखर सरकार भी पहुंचे थे। मध्य प्रदेश लघु उद्योग निगम की अध्यक्ष इमरती देवी भी वहां आ गईं। उन्होंने मंच पर पहुंचकर पंडोखर सरकार से आशीर्वाद लिया और अपने दो सवाल पूछे।

इमरती देवी सवाल पूछतीं इससे पहले ही ने पंडोखर सरकार ने कागज पर जवाब लिख लिए। उनके सवाल करते ही उन्होंने जवाब दे दिया। इमरती बोली की में साफ राजनीति करती हूं, इसके बाद भी कौन मेरे पीछे पड़ा है। मुझे चुनाव किसने हरवाया। इसपर पंडोखर सरकार बोले- कागज पढ़ा जाए। फिर उन्होंने पढ़कर सुनाया कि इमरती देवी को चुनाव उनकी ही वर्तमान पार्टी के किसी व्यक्ति ने हरवाया है। 

बाबा ने आगे कहा कि व्यक्ति कोई भी हो सकता है। वह नाम नहीं बताएंगे, लेकिन यह भी कहा कि इमरती देवी की राजनीति का विस्तार हो रहा है। वह उन्नति करेंगी। विरोधी उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकेंगे। इतना ही नहीं जब इमरती ने नाम पर जोर दिया तो उनका कहना था कि वह डबरा में जब आएंगे तो नाम भी बताएंगे।

इमरती ने दूसरे सवाल में पूछा कि नातिन तीन साल की हो गई है और अभी तकb बोल नहीं पाती है। इसपर पंडोखर सरकार ने कहा कि उसमें कोई बात नहीं है। पंडोखर सरकार के दरबार में ले आना वह बोलने लगेगी।

बता दें कि इमरती देवी की उपचुनाव में हार पर उनका दर्द छलकता रहता है। हार का दर्द कई बार इमरती देवी ने खुद मंच से बयां किया है। पहले भी कई मौकों पर वह अपनी हार के लिए पार्टी में भीतरघात को जिम्मेदार बता चुकी हैं।