इंदौर में मौन प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने बरसाईं लाठियां, वाटर केनन का किया प्रयोग

शहर में राजनीतिक यात्रा निकालने देने की अनुमति मांग रहे थे कांग्रेसी कार्यकर्ता, गणेश उत्सव पर झांकी पर लगी रोक का कर रहे थे विरोध, इंदौर प्रशासन को रास नहीं आया कांग्रेस का मौन प्रदर्शन

Updated: Aug 25, 2021, 05:00 PM IST

इंदौर में मौन प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने बरसाईं लाठियां, वाटर केनन का किया प्रयोग

इंदौर। इंदौर में मौन प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर आज इंदौर पुलिस ने लाठियां बरसा दी। इंदौर पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर वाटर केनन का भी प्रयोग किया। यह घटनाक्रम कलेक्टर ऑफिस के सामने हुआ। शहर में राजनीतिक यात्रा निकालने देने की अनुमति और गणेश उत्सव पर निकलने वाली झांकी पर रोक लगाने के विरोध में कांग्रेस के कार्यकर्ता आज एकत्रित हुए थे, लेकिन इंदौर प्रशासन को कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का यह प्रदर्शन रास नहीं आया।  

इंदौर प्रशासन के इस बर्बरतापूर्ण रवैये के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने एक सुर में आवाज़ बुलंद की है। कांग्रेस नेता रवि वर्मा राहुल ने कहा है कि जब सिंधिया गुंडों के साथ जन आशीर्वाद यात्रा के नाम पर बिना अनुमति के निकलते हैं, डीआईजी ऑफिस के घेराव के लिए भाजपा के सहयोगी भीड़ लेकर पहुंचते हैं, तब इन पर लाठीचार्ज तो दूर की बात, कोई एफआईआर तक दर्ज नहीं होती।  

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने इस पूरे घटनाक्रम को लेकर कहा है कि सिंधिया की रैली सरकार के दामाद की तरह निकलती है, लेकिन शहर में धार्मिक पर्वों को मनाने देने की अनुमति को लेकर निकली पर पुलिस लाठीचार्ज करती है। यह कैसी धर्म प्रेमी सरकार है। सलूजा ने लाठीचार्ज पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज जी के सपनो के शहर इंदौर में धार्मिक पर्वों को मनाने की अनुमति देने की माँग को लेकर कांग्रेस की शांतिपूर्ण ढंग से निकली मौन रैली पर बर्बर लाठीचार्ज ,वाटर कैनन का उपयोग।वही सिंधियाजी की जनआशीर्वाद रैली सरकारी दामाद की तरह निकली, यह है धर्म प्रेमी सरकार? 

दरअसल आज सुबह रजवाड़ा में सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता मौन प्रदर्शन के लिए इकट्ठा हुए थे। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की प्रमुख मांग यही थी कि शहर में गणेश उत्सव के अवसर पर निकाले जाने वाली झांकी पर लगी रोक हटा ली जाए। इसको लेकर प्रदर्शन करते करते कांग्रेस के कार्यकर्ता जब कलेक्टर ऑफिस पहुंचे तब उनपर इंदौर पुलिस ने वाटर केनन की बौछार कर दी। इसके साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज भी किया गया।