डॉ स्तुति भी हुईं ट्रोलिंग की शिकार, आईटी सेल ने वीडी शर्मा की पत्नी को भी नहीं छोड़ा

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा की पत्नी डॉ स्तुति मिश्रा ने एक मुस्लिम दवा विक्रेता की तारीफ की थी, इसपर आईटी सेल के लोग उन्हें भला बुरा कहने लगे, मजबूरन उन्हें वह ट्वीट डिलीट करना पड़ा

Updated: Apr 18, 2022, 05:24 PM IST

डॉ स्तुति भी हुईं ट्रोलिंग की शिकार, आईटी सेल ने वीडी शर्मा की पत्नी को भी नहीं छोड़ा

भोपाल। देश में लगातार बिगड़ रहे सांप्रदायिक सौहार्द के बीच अब दक्षिणपंथी साइबर ट्रॉल्स अपनों को भी ट्रॉल करने से बाज नहीं आ रहे हैं। रविवार को मध्य प्रदेश बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष व खजुराहो सांसद विष्णुदत्त शर्मा की पत्नी भी आईटी सेल से जुड़े ट्रॉल्स की शिकार हो गईं। एक मुस्लिम दुकानदार की तारीफ करने के लिए ट्रॉल्स ने उन्हें इतना परेशान किया कि उन्हें ट्वीट डिलीट करना पड़ा। खास बात यह है कि उनके पति वीडी शर्मा ने भी उनका बचाव नहीं किया। हालांकि, कांग्रेस ने उनका समर्थन करते हुए इस घटना की निंदा की है।

दरअसल, वीडी शर्मा को पत्नी डॉ स्तुति मिश्रा ने रविवार को एक ट्वीट में लिखा था कि, 'मुझे कल रात एक दवा की जरूरत थी। रात 11.30 बजे सभी दुकानें बंद थी, सिर्फ एक मुस्लिम की मेडिकल दुकान खुली थी। ड्राइवर और मैं उस दुकान पर पहुंचे और हमने दवा खरीदी। इस दौरान दुकानदार ने कहा कि दीदी ये वाली दवा से नींद आती है, कम ड्रॉप ही दीजिएगा। वह मुस्लिम कितना केयरिंग था।' इस पोस्ट के साथ उन्होंने हैशटैग में हिंदू-मुस्लिम एकता की बात कही।

महज इतने से पोस्ट के लिए डॉ स्तुति मिश्रा को उन ट्रॉल्स से होकर गुजरना पड़ा जो आम तौर पर हर धर्मनिरपेक्ष खासकर महिलाओं के साथ अभद्रता करते हैं। बीजेपी आईटी सेल के लोग ही उन्हें ट्रॉल करने लगे। बीजेपी नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा और उनके समर्थक डॉ स्तुति मिश्रा पर टूट पड़े। खास बात ये है कि सात जन्मों तक साथ निभाने का वचन देने वाले उनके पति वीडी शर्मा भी उनके बचाव में नहीं उतरे।

आखिरकार डॉ स्तुति को वह ट्वीट डिलीट करने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में निराशा जाहिर करते हुए लिखा, पिछले ट्वीट को मैंने डिलीट कर दिया क्योंकि यह अनावश्यक अराजकता पैदा कर रहा था। धार्मिक लड़ाई के विषय पर विचार शेयर करना मुश्किल है। किसी के विचार को ठेस पहुंचाना मकसद नहीं था।' 

हालांकि, कांग्रेस नेताओं ने वीडी शर्मा की पत्नी का बचाव किया है। कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने लिखा कि, 'नफ़रत फैलाने की वैचारिक शिक्षा देने वाली छत के नीचे "सत्य स्वीकारने व वैमनस्यता के खिलाफ शांतिदूत भी"..भाभी जी आपके अदम्य साहस को सलाम..ट्वीट डिलीट करने की मजबूरी भी लाज़मी थी किन्तु एक दिन वीडी शर्मा भाई सा.भी समझेंगे।' 

युवा कांग्रेस नेता आनंद जाट ने कहा कि, 'डॉ स्तुति का वो ट्वीट वाक़ई अच्छा था। उनके स्वतंत्र स्वभाव की अभिव्यक्ति थी। जितना भी मैं उन्हें जानता हूँ वह अपने विचारों पर अडिग रहती हैं। बीजेपी की ट्रॉल आर्मी अपना-पराया नहीं देखती। ये काफी चिंताजनक है कि बीजेपी ने देश में आज ऐसा माहौल बना दिया है कि अब उनके घरों की औरतों को भी ट्रॉल्स नहीं छोड़ रहे हैं। लेकिन इतिहास गवाह है नफरत पर हमेशा प्रेम की जीत होती है। हमें भरोसा है कि प्रेम जीतेगा और नफरत हारेगी। बीजेपी समाज में कितना भी जहर घोलने का प्रयास कर ले लेकिन वे कामयाब नहीं होंगे।'