भाजपा नेता ने ऑफिस में घुसकर की पत्रकार से मारपीट, पुलिस ने उल्टा पत्रकार पर ही दर्ज किया मुकदमा

देवास में भाजपा नेता विजेंद्र राणा ने पत्रकार मोहनीश वर्मा के साथ मारपीट के डेढ़ घंटे बाद पुलिस ने उल्टा पत्रकार पर ही एससी एसटी एक्ट में दर्ज कर लिया मुकदमा

Updated: Aug 29, 2021, 07:58 PM IST

भाजपा नेता ने ऑफिस में घुसकर की पत्रकार से मारपीट, पुलिस ने उल्टा पत्रकार पर ही दर्ज किया मुकदमा

देवास। देवास में भाजपा नेता द्वारा पत्रकार को पीटने का मामला तूल पकड़ते जा रहा है। भाजपा नेता विजेंद्र राणा ने पत्रकार मोहनीश वर्मा से कार्यालय में घुसकर मारपीट की थी। इसके बाद पत्रकार ने भाजपा नेता के खिलाफ पुलिस में शिकायत तो दर्ज करा दी, लेकिन पुलिस ने डेढ़ घंटे में ही एफआईआर बदलकर उल्टा पत्रकार पर ही एससी-एसटी एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। 

पत्रकार को पीटे जाने और पुलिस की एकतरफा कार्रवाई का कांग्रेस नेता अरुण यादव ने विरोध किया है। अरुण यादव ने शिवराज सरकार की आलोचना करते हुए कहा है कि शवराज में लगातार लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को दबाने का काम किया जा रहा है।

अरुण यादव ने पत्रकार मोहनीश वर्मा के साथ हुई मारपीट का वीडियो साझा करते हुए कहा है कि मध्य प्रदेश में अब पत्रकार साथी भी सुरक्षित नहीं हैं, आमजन पर भाजपा समर्थित गुंडे लगातार हमले कर रहे है। लेकिन देवास में तो मीडियाकर्मी ही पिट रहे हैं। उन्होंने पुलिस के रवैय्ये पर भी सवाल खड़े किए हैं।  

क्या है मामला 

मामला कुछ यूं है कि कुछ दिन पहले विजेंद्र राणा ने होटल में घुसकर मारपीट की थी और पत्रकार ने उसका वीडियो न्यूज के रूप में चलवा दिया था। इससे नेताजी इतने नाराज़ हुए कि पहले तो पत्रकार मोहनीश वर्मा को फोन पर धमकाया और इससे भी संतुष्टि नहीं हुई तो IBC24 के उनके दफ्तर में पहुंच गए। दफ्तर में मार-पिटाई का वीडियो तो आप देख ही लेंगे, लेकिन यह भी देखें कि नेताजी थप्पड़ आदि चलाने के बाद बाहर से एक बड़ा पत्थर हाथ में लिए दफ्तर में प्रवेश कर रहे हैं। इसके बाद तोड़फोड़ हुआ। वीडियो बस इतने पर ही खत्म हो जाता है, पर कहानी लंबी होती गई। पुलिस ने नेताजी का साथ दिया और पत्रकार पर एससीएसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर दिया।

कुछ स्थानीय लोग यह भी कह रहे हैं कि बीते दिनों देवास के कैला देवी चौराहे पर भाजपा नेता के झगड़े का एक वीडियो वायरल हुआ था। इस सिलसिले में बीजेपी नेता विजेंद्र राणा कैला देवी चौराहे के पास मीडिया के एक कार्यालय में दाखिल हुए और वहां पहुंच कर बदसलूकी करने लगे। इस दौरान आईबीसी न्यूज चैनल के पत्रकार मोहनीश वर्मा भी वहीं मौजूद थे। 

जल्द ही पत्रकार मोहनीश वर्मा और भाजपा नेता विजेंद्र राणा के बीच झड़प शुरू हो गयी। जिसके बाद विजेंद्र राणा ने पत्रकार के साथ मारपीट शुरू कर दिया। भाजपा नेता की इस हरकत के खिलाफ मोहनीश वर्मा ने शुक्रवार को औद्योगिक क्षेत्र थाने में शिकायत दर्ज कराई। लेकिन पत्रकार द्वारा शिकायत दर्ज कराने के कुछ ही घंटे के भीतर पत्रकार पर अनुसूचित जाति-जनजाति एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया। दावा किया जा रहा है कि बीजेपी के बड़े नेताओं के इशारे पर पुलिस ने मोहनीश वर्मा के खिलाफ यह कार्रवाई की है।