पंद्रह हजार की रिश्वत लेते ग्वालियर तहसीलदार का रीडर गिरफ्तार

लोकायुक्त की टीम ने रंगे हाथ रिश्वत लेते गिरफ्तार किया, तहसीलदार के रीडर ने किसान से बंटवारे और अतिक्रमण हटवाने के लिए बीस हज़ार रुपये की रिश्वत की मांग की थी

Updated: Mar 31, 2021, 04:54 PM IST

पंद्रह हजार की रिश्वत लेते ग्वालियर तहसीलदार का रीडर गिरफ्तार
photo courtesy: patrika

भोपाल। ग्वालियर लोकायुक्त ने भितरवार अनुविभाग के चीनोर में बड़ी कार्यवाही की है। तहसीलदार के रीडर यानी पीए को पंद्रह हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

मामला डबरा के चीनोर तहसील का बताया जा रहा है। जहाँ तहसीलदार के रीडर के पद पर पदस्थ कुलवंत सिंह रावत ने हिम्मतगढ़ के रहने वाले किसान मान सिंह से बंटवारे और अतिक्रमण हटावाने के लिए बीस हज़ार रुपये की रिश्वत की मांग की थी। किसान मान सिंह ने पैसे देने से मना कर दिया तो उसे तहसील कार्यालय के चक्कर लगवाया गया । जिसकी शिकायत किसान ने लोकायुक्त अधीक्षक से की। लोकायुक्त ने किसान को कुछ पैसे दिए, पैसे लेकर किसान पहली किश्त देने रीडर के पास पहुंचा। उसी दौरान लोकायुक्त की टीम ने 15 हज़ार की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा। रीडर को करहिया तिराहे से गिरफ्तार कर लिया गया।

गौरतलब है कि इससे पहले भी भिरतवार में लोकायुक्त की टीम ने राजस्व विभाग के कर्मचारियों पर कार्यवाही की है। जिसमें छिमक तहसील के बाबू को नामांतरण के लिए 3 हज़ार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा गया था। लोकायुक्त की कार्यवाही राघवेंद्र सिंह, कविंद्र सिंह, इक़बाल सिंह, सुरेंद्र सौमिल, हेमंत की उपस्थिति में हुई।