Shivraj New Cabinet : मंत्रिमंडल में कुछ चौंकाने वाले नाम

देर रात तक डैमेज कंट्रोल के प्रयास, CM शिवराज सिंह चौहान के निवास पर मंथन, मंत्री नहीं बनाए जाने वाले नेताओं को समझाइश

Publish: Jul-02, 2020, 02:46 PM IST

Shivraj New Cabinet : मंत्रिमंडल में कुछ चौंकाने वाले नाम

मध्य प्रदेश में मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेने के 102 दिन बाद शिवराज सिंह चौहान कैबिनेट का आज यानी 2 जुलाई को विस्‍तार हो रहा है। इस बार करीब 28 मंत्री शपथ ले रहे हैं। मंत्रिमंडल में कई चौंकाने वाले नाम शामिल हैं, जबकि कई संभावित नेता मंत्री पद से चूक जाएंगे। वरिष्‍ठ नेताओं को मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किए जाने के हाईकमान के निर्देश के बाद डैमेज कंट्रोल के लिए प्रदेश प्रभारी विनय सहस्रबुद्धे बुधवार को भोपाल पहुंचे। उन्‍होंने देर रात तक सीएम हाउस में बैठक की। सीनियर नेताओं से चर्चा कर असंतोष दूर करने का प्रयास किया।

शिवराज मंत्रिमंडल का दो महीने से टल रहा विस्तार अंतत गुरुवार को होना सुनिश्चित हो गया है। इसकी घोषणा खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की है। लेकिन शपथ कौन लेगा यह देर रात तक तय नहीं हो सका था। कांग्रेस से आए विधायकों और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया के समर्थकों को साधने के चक्‍कर में पार्टी के कई नेता नाराज हो गए हैं। इसके साथ ही शीर्ष नेतृत्‍व ने तय किया है कि इस बार मंत्रिमंडल में नए चेहरे होंगे। इस कारण भी शिवराज सरकारों में मंत्री रहे कई नेता ताजा मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होंगे। यही कारण है कि पार्टी ने डैमेज कंट्रोल के लिए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सहस्रबुद्धे को भोपाल भेजा है। सहस्रबुद्धे ने बुधवार को पहले कोर टीम से चर्चा की फिर देर रात तक दावेदार नेताओं से व्‍यक्तिगत चर्चा की।

Click  Shivraj Singh Chouhan : जुबां पर दर्द भरी दास्‍तां चली आई

बताया जाता है कि शिवराज सिंह चौहान, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया और बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष वीडी शर्मा की पसंद के कुछ नेताओं के नाम काटना है। मगर कोई भी नेता समझौता करने को तैयार नहीं है। सिंधिया का तर्क है कि कांग्रेस छोड़कर आए नेताओं को मंत्री नहीं बनाएंगे तो वे उपचुनाव में उतरेंगे कैसे। वहीं शिवराज वरिष्‍ठ विधायकों को छोड़ने के लिए राजी नहीं है। संगठन की नीति के रूप में वीडी शर्मा नए चेहरों की पैरवी कर रहे हैं। कांग्रेस छोड़ कर आए बिसाहूलाल सिंह, एंदल सिंह कंसाना, हरदीप डंग और रणवीर जाटव से किया गया मंत्री बनाने का वादा भी बीजेपी के लिए परेशानी बन गया है। निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल और बसपा के संजीव कुशवाह भी मंत्री बनने की आस संजोये बैठे हैं।  

संभावित नाम 

कैबिनेट मंत्री के रूप में गोपाल भार्गव,विजय शाह, जगदीश देवड़ा, प्रेम सिंह पटेल, यशोधरा राजे, भूपेन्द्र सिंह, अरविंद सिंह भदौरिया, एदल सिंह कंसाना, ओम प्रकाश सकलेचा, विश्वास सारंग, मोहन यादव के नाम शामिल हैं। सिंधिया खेमे से प्रभुराम चौधरी, इमरती देवी, प्रद्युम्न सिंह तोमर, महेंद्र सिसोदिया कैबिनेट और राज्‍यमंत्री के रूप में बृजेंद्र प्रताप सिंह, ऊषा ठाकुर, भारतसिंह कुशवाह, इंदर सिंह परमार, रामखिलावन पटेल, हरदीप सिंह डंग, रामकिशोर कांवरे, राज्यवर्धन सिंह दत्तीगाँव, बृजेन्द्र यादव, सुरेश धाकड़, ओपी भदौरिया, बिसाहू लाल सिंह के शपथ लेने की संभावना है।