Indore: 5 दिन बाद थाने में मिला अस्पताल से चोरी हुआ बच्चा

15 नवंबर को महाराजा यशवंत राव अस्पताल से चोरी हुआ बच्चा मिला, संयोगितागंज थाने के परिसर में बच्चे को छोड़ गई अज्ञात महिला, बच्चा स्वस्थ है, DNA टेस्ट के बाद माता पिता को सौंपा जाएगा

Updated: Nov 20, 2020, 02:55 PM IST

Indore: 5 दिन बाद थाने में मिला अस्पताल से चोरी हुआ बच्चा
Photo Courtesy: Google

इंदौर। महाराजा यशवंत राव अस्पताल से चोरी हुआ बच्चा आखिरकार पांच दिन बाद मिल गया। बच्चा चुराने वाली महिला ने नवजात शिशु को लाकर थाने में छोड़ दिया। सुबह करीब 6 बजे थाने की सफाई के दौरान सफाईकर्मी की नजर बच्चे पर पड़ी। पुलिस ने शिशु को अस्पताल पहुंचा दिया है। बच्चा पूरी तरह स्वस्थ्य है।

आपको बता दें कि अस्पताल से 15 नवंबर को किसी अज्ञात महिला ने बच्चा चोरी कर लिया था। पुलिस बच्चा चोर महिला की तलाश में जुटी थी। बच्चा चोर महिला सीसीटीवी में स्कूटी से बच्चे को लेकर जाती नजर आई थी। वहीं अब पुलिस उस शख्स का पता लगाने में जुटी है, जिसने बच्चे को थाने में लाकर छोड़ा है।

 बच्चा उसी संयोगितागंज पुलिस थाने के परिसर में मिला है, जिसमें बच्चे के चोरी होने की शिकायत दर्ज हुई है । शुक्रवार सुबह कोई महिला नवजात को थाने के परिसर में छोड़ गई। थोड़ी दूर लगे सीसीटीवी में महिला की धुंधली तस्वीर कैद हुई है। सुबह थाने की सफाई के दौरान नगर निगम की एक महिला सफाईकर्मी की नजर बच्चे पर पड़ी, तो उसने बच्चे की खबर पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस ने बच्चे को वापस उसी अस्पताल में भेज दिया, जहां से बच्चा चोरी हुआ था। बच्चे के परिजनों को उसकी खबर दे दी गई है। बच्चे का DNA करवाकर उसके माता पिता को सौंप दिया जाएगा।

और पढ़ें: इंदौर के अस्पताल से नवजात बच्चा चोरी, CCTV में कैद वारदात

इंदौर पुलिस शहर में सफेद रंग की करीब 450 गाड़ियों की पहचान करके उनके मालिकों को पूछताछ के लिए बुला रही थी। हो सकता है पुलिस की इस जांच और सख्ती के डर से ही बच्चा चोर ने थाने में लाकर बच्चा छोड़ दिया। गौरतलब है कि इंदौर के महाराज यशवंत राव होलकर अस्पताल से रविवार 15 नवंबर को एक दिन का नवजात बच्चा चोरी हो गया था। नर्स के वेश में एक महिला बच्चे की जांच करने के बहाने आई और बच्चा लेकर भाग गई। इस घटना के बाद से अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े किए जा रहे थे।