MP: पंचायत चुनावों का बजा बिगुल, 6 जनवरी से तीन चरणों मे होंगे चुनाव, 3.93 करोड़ मतदाता दे सकेंगे वोट

राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान किया त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का ऐलान, 3 करोड़ 92 लाख मतदाता करेंगे मताधिकार का प्रयोग, आज से आदर्श आचार संहिता हुआ लागू

Updated: Dec 04, 2021, 05:30 PM IST

MP: पंचायत चुनावों का बजा बिगुल, 6 जनवरी से तीन चरणों मे होंगे चुनाव, 3.93 करोड़ मतदाता दे सकेंगे वोट

भोपाल। मध्य प्रदेश में लंबे समय से टाले जा रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का बिगुल बज चुका है। चुनाव आयोग ने शनिवार को इसका औपचारिक ऐलान कर दिया है। राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत सिंह ने आज बताया कि 6 जनवरी से तीन चरणों मे पंचायत चुनावों का आयोजन कराया जाएगा। सिंह ने बताया कि आज चुनाव के ऐलान के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है।

निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि फर्स्ट फेज के चुनाव में 6 जनवरी को 9 जिलों में वोटिंग होगी, सेकंड फेज में 28 जनवरी को 7 जिले और थर्ड फेज में 16 फरवरी को 36 जिलों में चुनाव होंगे। उन्होंने बताया कि 3 मार्च 2021 को जारी की गई अंतिम मतदाता सूची के आधार पर ही वोटर्स वोट दे सकेंगे। निर्वाचन आयोग के मुताबिक प्रदेश भर के करीब 3 करोड़ 92 लाख मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें: MP में आज से पेसा एक्ट लागू, आदिवासियों पर लगे छोटे मोटे केस होंगे वापस: शिवराज चौहान

राज्य निर्वाचन आयुक्त के प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, 'प्रथम चरण में 85 जनपद पंचायतों पर चुनाव होंगे। वहीं 6283 ग्राम पंचायतों पर चुनाव होंगे। दूसरे चरण में 110 जनपद पंचायत पर चुनाव होंगे। वहीं तीसरे चरण में 118 जनपद पंचायत में चुनाव होंगे। प्रदेश की 114 ऐसी कुछ ग्राम पंचायत हैं जिनका कार्यकाल मार्च 2022 के बाद पूरा होगा। इनका चुनाव बाद में होगा। अभी इन ग्राम पंचायतों में चुनाव नहीं होंगे।' 

राज्य निर्वाचन आयोग ने बताया की चुनाव के लिए 55 हजार ईवीएम मशीनों की व्यवस्था की गई है। चुनाव के लिए प्रदेशभर में 71,398 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे। इन केंद्रों पर 4 लाख 25 हजार मतदान कर्मियों की नियुक्ति होगी। मतदान का समय सुबह 7 बजे से दोपहर तीन बजे तक निर्धारित किया गया है। चुनाव आयुक्त के मुताबिक प्रदेशभर में कुल 22 हजार 581 सरपंच पद के लिए चुनाव होंगे।

यह भी पढ़ें: इंस्टाग्राम पर सिंधिया हुए श्रेया अरोरा, हैकरों ने बदला नाम, कांग्रेस बोली- लोकप्रियता बढ़ाने के लिए श्रीमंत श्रेया हो गए

चुनाव आयुक्त ने बताया कि प्रत्येक मतदान केंद्र पर एक पीठासीन अधिकारी और 4 मतदान कर्मी नियुक्त होंगे। एवं सभी पदों के लिए अलग-अलग रंग के मतपत्र इस्तेमाल किए जाएंगे। कोरोना को देखते हुए नामांकन के दौरान प्रत्याशियों को सिर्फ दो वाहन ले जाने की मंजूरी दी गई है। प्रत्याशी ऑनलाइन नामांकन भी कर सकते हैं किया लेकिन उसका हार्ड कॉपी रिटर्निंग ऑफिसर के पास जमा करना होगा। मतदाता वोटरलिस्ट में अपना नाम mplocalelection.mp.in वेबसाइट पर चेक कर सकते हैं।