3 हजार की रिश्वत लेते सरकारी कर्मचारी गिरफ्तार, गजट नोटिफिकेशन के लिए महिला वकील से लिया घूस

आरोपी प्रूफ रीडर ने नाम संशोधन के गजट नोटिफिकेशन के नाम पर 5 हजार रुपए मांगे, 3 हजार रुपए में तय हुआ सौदा, महिला वकील की शिकायत पर लोकायुक्त ने रंगेहाथ किया गिरफ्तार

Updated: Sep 15, 2021, 10:42 PM IST

3 हजार की रिश्वत लेते सरकारी कर्मचारी गिरफ्तार, गजट नोटिफिकेशन के लिए महिला वकील से लिया घूस
Photo Courtesy: Naidunia

भोपाल। सरकारी विभागों में किस तरह की घूसखोरी होती है, इसकी बानगी भोपाल में देखने को मिली। राजधानी स्थित सरकारी प्रेस के सीनियर रीडर  संतोष रैकवार ने एक गजट नोटिफिकेशन के नाम पर महिला वकील से 5 हजार रुपए की डिमांड की। महिला ने इस मामले की शिकायत लोकायुक्त पुलिस में की। रेखा जैन ने अपनी शिकायत में कहा कि उनके क्लाइंट अमृत धोटे उर्फ मारुति के नाम संशोधन कराना है, जिसके लिए गजट नोटिफिकेशन कराने के लिए वो बार-बार सरकारी प्रेस में चक्कर काटने को मजबूर है। संतोष रैकवार काम में लगातार टाला मटोली कर रहा था, आखिरकार उनसे उनसे 5 हजार रुपए की मांग रखी, जिसका सौदा तीन हजार रुपए में तय हुआ था।

महिला वकील रेखा जैन ने इसकी शिकायत भोपाल स्थित लोकायुक्त पुलिस से कर दी। लोकायुक्त ने शिकायत को सही पाया और पूरी प्लानिंग के साथ महिला को सरकारी प्रेस रिश्वत लेकर भेजा। जैसे ही महिला ने आरोपी को 3 हजार रुपए पकड़ाए, तभी लोकायुक्त पुलिस वहां आ पहुंची और आरोपी को रंगे हाथों पकड़ लिया।

महिला वकील का कहना है कि उसके क्लाइंट की मार्कशीट में अमृत नाम दर्ज है। जबकि कुछ अन्य कागजातों में उसका दूसरा नाम मारुति लिखा हुआ है। अब वह अपना एक नाम कराने के लिए नोटिफिकेशन जारी कराना चाहता था। लेकिन प्रूफ रीडर बिना पैसों के काम करने को तैयार नहीं था। अब शिकायत के बाद लोकायुक्त ने रिश्वतखोर अफसर को गिरफ्तार कर लिया है। लोकायुक्त पुलिस आरोपी से पूछताछ में जुटी है।

इनदिनों प्रदेश में घूसखोरों पर शिकंजा कसा जा रहा है, मंगलवार को लोकायुक्त पुलिस ने खंडवा की पंधाना कृषि उपज मंड़ी के ASI को 12 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया था।