वेंटिलेटर पर आ चुकी है शिवराज सरकार, इसलिए अब सत्ता परिवर्तन जरूरी: जयवर्धन सिंह

पठान फिल्म विवाद को लेकर कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह ने कहा कि यह अफसोस की बात है कि भाजपा के नेता हर छोटे मुद्दे को बड़ा मुद्दा बनाते हैं।

Updated: Dec 18, 2022, 07:38 PM IST

वेंटिलेटर पर आ चुकी है शिवराज सरकार, इसलिए अब सत्ता परिवर्तन जरूरी: जयवर्धन सिंह

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र कल (19 दिसंबर) से शुरू हो रही है। विपक्षी दल कांग्रेस इस सत्र में अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारियां कर रही है। सत्र शुरू होने से पहले कांग्रेस के युवा विधायक जयवर्धन सिंह ने कहा कि शिवराज सरकार वेंटिलेटर पर आ चुकी है। 

जयवर्धन सिंह ने राजधानी भोपाल में मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि शिवराज सरकार ने आम जनता के हित में कोई भी नया काम नहीं किया है। इसलिए अब सत्ता परिवर्तन जरूरी है। कांग्रेस संगठन में परिवर्तन को लेकर पूछे जाने पर जयवर्धन ने कहा कि प्रदेश और जिले की कार्यकारिणी में परिवर्तन हो सकता है, लेकिन पीसीसी चीफ कमलनाथ ही रहेंगे।

यह भी पढ़ें: गुंडागर्दी ठीक नहीं, लड़ना है तो मैदान में आओ: खुरई में दिग्विजय सिंह ने मंत्री भूपेंद्र सिंह को दी चेतावनी

पठान फिल्म विवाद को लेकर भी जयवर्धन ने कहा कि, 'फिल्म का उद्देश्य सिर्फ मनोरंजन करना होता है।फिल्म में पहले ही बताया गया है कि यह सिर्फ एक फिक्शन है। सच्ची स्टोरी नहीं है। डायरेक्टर का अधिकार होता है, जो उन्हें दिखाना है दिखा सकते हैं। अफसोस की बात है कि भाजपा के नेता हर छोटे मुद्दे को बड़ा मुद्दा बनाते हैं।

संविदा स्वास्थ्यकर्मियों के आंदोलन को लेकर पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि, 'कोविड-19 महामारी में अपनी जान जोखिम में डालकर संविदा कर्मियों ने लोगों की सेवा की। कोरोना में सरकार ने इनसे काम कराया और इसके बाद सेवा समाप्त कर दी। कमलनाथ को पूरे 5 साल काम करने का मौका मिलता, तो सभी संविदा कर्मियों को नियमित किया जाता। 2023 में सरकार बनेगी तो संविदा कर्मियों की मांगे पूरी करेंगे। हम विधानसभा में भी संविदा कर्मियों का मुद्दा उठाएंगे।'