गुंडागर्दी ठीक नहीं, लड़ना है तो मैदान में आओ: खुरई में दिग्विजय सिंह ने मंत्री भूपेंद्र सिंह को दी चेतावनी

फर्जी मुकदमा झेल रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मिलने खुरई पहुंचे पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह, मंत्री भूपेंद्र को चुनौती देते हुए कहा- निर्दोष लोगों को क्यों जेल में डालते हो, लड़ना है तो मेरे सामने मैदान में आओ।

Updated: Dec 17, 2022, 08:46 PM IST

गुंडागर्दी ठीक नहीं, लड़ना है तो मैदान में आओ: खुरई में दिग्विजय सिंह ने मंत्री भूपेंद्र सिंह को दी चेतावनी

खुरई। कांग्रेस के कद्दावर नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह शनिवार को सागर दौरे पर हैं। सिंह सागर के खुरई विधानसभा क्षेत्र में फर्जी मुकदमा झेल रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मिलने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने बीजेपी मंत्री भूपेंद्र सिंह को चेतावनी देते हुए कहा कि गुंडागिरी ठीक नहीं है, लड़ाई लड़ना है तो मैदान में आओ।

राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह सुबह-सुबह दिल्ली से ट्रेन से बीना पहुंचे, जहां उन्होंने कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। वह यहां से सड़क मार्ग से खुरई पहुंचे। खुरई में वे वे सबसे पहले राकेश दुबे गमीरिया के घर गए। राकेश दुबे सेल्फी कांड में 78 दिनों तक जेल में रहे हैं। दुबे ने दिग्विजय सिंह को अपनी व्यथा सुनाई और बताया कि किस तरह से खुरई में भाजपा नेताओं के इशारों पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को परेशान किया जा रहा है। 

इसके बाद सिंह ने खुरई के अंबेडकर चौराहे पर पहुंचकर डॉ आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। माल्यार्पण के बाद नथन सिंह राजपूत के घर जाकर उनसे बातचीत की। साथ ही नगर पालिका चुनाव से सागर जेल में बंद अंशुल परिहार के घर पहुंचकर उनके परिजनों को भी ढांढस बढ़ाया। नगर पालिका के चुनाव में कांग्रेस की पार्षद प्रत्याशी रही राधा देवी के घर पर पहुंचकर भी उनका हाल जाना। सभी प्रताड़ित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सिंह को अपनी पीड़ा बताई।

सिंह ने यहां मंत्री भूपेंद्र सिंह को गुंडागिरी न करने की नसीहत दी। मीडिया से चर्चा करते हुए पूर्व सीएम ने कहा कि मध्य प्रदेश में झूठे केस बनाने का रिकॉर्ड कायम हो रहा है। कांग्रेसियों को झूठे मुकदमों में फंसाया जा रहा है। मेरे 10 साल के मुख्यमंत्री काल के दौरान मैंने क्या भूपेंद्र सिंह के लिए कोई एक भी परेशानी होने दी है। अगर हुई हो तो वह इसका जवाब दें, लेकिन यह क्या तरीका है? दादागिरी, गुंडागिरी कर रहे हैं। यह ठीक नहीं है। अगर लड़ाई लड़ना है तो मैदान में आओ, निर्दोष लोगों को क्यों बंद करते हो? आओ लड़ो मैं भी आ रहा हूं।'

यह भी पढ़ें: सिंधिया परिवार में गुटबाजी: ज्योतिरादित्य समर्थकों से बढ़ाई यशोधरा की चिंता, बोलीं- पुराने कार्यकर्ता कहां गए

दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि खुरई के एसडीओपी और एसडीएम भुपेंद्र सिंह के नौकर की तरह काम करते है। उन्होंने कहा कि हम लोग इसके प्रमाण इकट्‌ठा कर रहे है। हम भी देखते हैं कि वे नौकरी कैसे करते हैं। मुकदमों में फंसने के बाद कांग्रेस छोड़ने वाले अरुणोदय चौबे के बारे में पूछे जाने पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि, 'मैंने और कमलनाथ जी ने उनका हर समय सहयोग किया। लेकिन वे डर गए।'

खुरई में भूपेंद्र सिंह के खिलाफ चुनाव कौन लड़ेगा? इस सवाल का जवाब देते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि हमारे पास उम्मीदवारों की कोई कमी है क्या? अगर कोई नहीं लड़ेगा तो मैं खुद यहां से चुनाव लडूंगा।