बीजेपी के झंडों तले कथित संत ने राष्ट्रपिता को बताया देशद्रोही, कांग्रेस के विरोध के बाद मुकदमा दर्ज

नरसिंहपुर में कथावाचक तरुण मुरारी बापू के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है, तरुण मुरारी ने कथा कहते वक्त महात्मा गांधी पर अभद्र टिप्पणी करते हुए कहा था कि गांधी ने ही इस देश का बंटवारा कराया था

Updated: Jan 04, 2022, 05:53 PM IST

बीजेपी के झंडों तले कथित संत ने राष्ट्रपिता को बताया देशद्रोही, कांग्रेस के विरोध के बाद मुकदमा दर्ज
Photo Courtesy : TV9 Bharatvarsh

नरसिंहपुर। गालीबाज़ संत कालीचरण के ही तर्ज पर मध्य प्रदेश में एक कथित संत ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की है। तरुण मुरारी बापू ने भाजपा के झंडों तले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करते हुए गांधी को देशद्रोही करार दे दिया। तरुण मुरारी का वीडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस के कड़े विरोध के चलते कथित संत के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। 

सोमवार को नरसिंहपुर स्थित छिंदवाड़ा रोड स्थित वीरा लॉन में भागवत कथा सुनाते हुए तरुण मुरारी ने महात्मा गांधी के विरुद्ध अभद्र टिप्पणी की। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस दौरान मंच पर बीजेपी के झंडे भी लगे हुए थे। तरुण मुरारी ने महात्मा गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा महात्मा गांधी मेरी नज़र में राष्ट्रद्रोही है। जिस व्यक्ति ने देश के दो टुकड़े कर दिये वह राष्ट्रपिता नहीं हो सकता। मैं गांधी को राष्ट्रपिता नहीं मानता। गांधी को देशद्रोही कहा जाना चाहिए।  

तरुण मुरारी का वीडियो जल्द ही वायरल हो गया। कांग्रेस पार्टी ने वीडियो सामने आने के बाद पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंप कर तरुण मुरारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद थाना स्टेशनगंज में तरुण मुरारी के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। 

यह भी पढ़ें ः सहकारिता मंत्री को नहीं पता राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत में अंतर, विवाद बढ़ने पर डिलीट किया वीडियो

तरुण मुरारी से पहले कालीचरण नामक कथित संत ने छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आयोजित धर्म संसद में महात्मा गांधी को लेकर अपशब्द कहे थे। हालांकि जल्द ही उसे इस मामले में रायपुर पुलिस खजुराहो से गिरफ्तार कर रायपुर ले गयी। कालीचरण इस समय न्यायिक हिरासत में है।