ग्वालियर में घर में पड़े मिले तीन शव, पुलिस को प्रॉपर्टी विवाद में हत्या की है आशंका

ग्वालियर के मुरार में पुलिस को घर में एक ही परिवार के तीन लोग म़त अवस्था में मिले, पति पत्नी और गोद ली हुई बेटी के शव तीन दिन पुराने हैं, प्रारंभिक तौर पर पुलिस को यह हत्या का मामला लग रहा है

Publish: Sep 06, 2021, 03:31 PM IST

ग्वालियर में घर में पड़े मिले तीन शव, पुलिस को प्रॉपर्टी विवाद में हत्या की है आशंका
Photo : social media

ग्वालियर। ग्वालियर के मुरार स्थित एक घर में तीन शव मिलने से हड़कंप मच गया है। पूरे इलाके में इस समय दहशत फैली हुई है। पुलिस ने एक ही घर से पति पत्नी और उनकी बच्ची के शव को बरामद किया है। पुलिस के मुताबिक फौरी तौर पर यह मामला हत्या का लग रहा है। हालांकि पुलिस अभी मामले की पड़ताल कर रही है।  

यह घटना ग्वालियर के मुरार में अल्पना टॉकीज़ के पास की है। सोमवार सुबह एक घर से लगातार बदबू आने के बाद पड़ोसियों ने पुलिस को सूचित किया। मौके पर पहुंची पुलिस दरवाज़ा तोड़कर घर के अंदर दाखिल हुई, तब घर में पुलिस को तीन लोग मृत अवस्था में मिले। ये तीनों शव घर के मुखिया 60 वर्षीय जगदीश पाल, 55 वर्षीय पत्नी सरोज और गोद ली हुई बेटी कृति के थे। 

शुरूआती तौर पर पुलिस को यह हत्या का मामला लग रहा है। इसलिए पुलिस ने घटना स्थल को अपनी देखरेख में ले लिया है। पुलिस ने इस मामले में पड़ताल करने के लिए फॉरेंसिक एक्सपर्ट को भी घटना स्थल पर बुलाया। मौके पर पहुंचे फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने बताया कि शुरुआती तौर पर यह प्रतीत हो रहा है कि जगदीश और बच्ची को गला दबाकर मारा गया है। जबकि सरोज की हत्या चाकू से की गई है। सरोज के पेट पर चाकू के निशान भी मिले हैं। जिससे यह प्रतीत हो रहा है कि सरोज को विरोध करने पर मौत के घाट उतारा गया है। यानी जगदीश और उसकी बच्ची को सबसे पहले गला दबा कर मारा गया है। 

यह भी पढ़ें ः इंदौर में सौ रुपए के लिए कर दी युवक की हत्या, लोहे की रॉड और डंडे से पीट पीटकर मार डाला

कथित हत्या मामले में पुलिस की शक की सुई जगदीश के ही एक भाई लक्ष्मीनारायण की ओर घूम रही है। पुलिस के मुताबिक जगदीश के खानदान में कोई वारिस न होने के कारण प्रॉपर्टी हड़पने के इरादे से हत्या की गई है। जगदीश और सरोज की कोई संतान नहीं थी। गोद ली हुई कृति जगदीश के साले की बेटी थी।   

स्थानीय लोगों ने पुलिस को पूछताछ के दौरान बताया है कि बीते दो दिनों से जगदीश पाल के घर में कोई हलचल दिखाई नहीं दी थी। आज सुबह-सुबह अचानक मृतक के घर से दुर्गंध आने लगी। जिसके बाद उन्होंने जिज्ञासावश घर के अंदर झांक कर देखने का प्रयास किया। लेकिन इसके बावजूद न तो उन्हें किसी प्रकार की हलचल दिखाई दी और न ही घर के भीतर से किसी की आवाज़ बाहर आ रही थी। इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दे दी। 

यह भी पढ़ें ः नाबालिग से रेप के आरोपी को बचाने में जुटे मोदी सरकार के मंत्री, अरुण यादव का गंभीर आरोप

पड़ोसियों ने बताया कि मृतक जगदीश पाल वेल्डिंग का काम किया करते थे। घर के नीचे ही उनकी दुकान थी। पुलिस ने जब मृतक की किसी के साथ दुश्मनी के बारे में पूछा, तब स्थानीय लोगों ने ऐसी किसी भी संभावना से इनकार कर दिया।