अगर कमल नाथ ने सही केसों में कार्रवाई की होती तो उनकी सरकार नहीं गिरती, वीडी शर्मा पर विवेक तन्खा ने साधा निशाना

विवेक तन्खा ने कहा है कि अनिल देशमुख ने तो नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे दिया, लेकिन राफेल और व्यापमं जैसे मुद्दों पर चुप क्यों हैं भाजपा के नेता

Publish: Apr 06, 2021, 08:26 AM IST

अगर कमल नाथ ने सही केसों में कार्रवाई की होती तो उनकी सरकार नहीं गिरती, वीडी शर्मा पर विवेक तन्खा ने साधा निशाना

भोपाल। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने यह घोषणा की है कि उनकी सरकार कांग्रेस के कार्यकाल में भाजपा नेताओं पर कथित तौर पर लगाए गए झूठे मुकदमे वापस लेगी। शर्मा के इस ऐलान पर कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने हमला बोला है। विवेक तन्खा ने कहा है कि कमल नाथ सरकार के दौरान भाजपा नेताओं पर कभी झूठे मुकदमे दर्ज नहीं किए गए। अगर कमल नाथ ने सही मुकदमों पर ही कार्रवाई कर ली होती, तो उनकी सरकार नहीं गिरती। 

विवेक तन्खा ने वीडी शर्मा के बयान के जवाब में कहा कि कांग्रेस में कभी विरोधी दल के नेताओं पर झूठे मुकदमे दर्ज कराने की कोई संस्कृति नहीं रही है। मैं कमल नाथ जी को व्यक्तिगत तौर पर जानता हूं, कमल नाथ ने कभी भाजपा नेताओं पर झूठे मुकदमे दर्ज नहीं कराए। विवेक तन्खा ने तो यहां तक कहा कि अगर कमल नाथ व्यापामं, ई टेंडरिंग और होनी ट्रैप जैसे मामलों में सही कार्रवाई कर दी होती तो उनकी सरकार नहीं गिरती। 

अगर बीजेपी नेताओं में नैतिकता है तो वे खुद से सवाल करें: तन्खा

इसके साथ ही कांग्रेस नेता ने एनसीपी नेता अनिल देशमुख के गृह मंत्री के पद से इस्तीफा देने का उदाहरण देते हुए कहा कि जैसे देशुमुख ने नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे दिया। वैसे ही क्या भाजपा के नेता अपने घोटालों के संबंध में कोई कदम उठा सकते हैं? राज्यसभा सांसद ने कहा, 'महाराष्ट्र में महज हाईकोर्ट के जांच के आदेश पर गृहमंत्री अपना इस्तीफा सौंप देते हैं। लेकिन क्या भाजपा कभी इसका जवाब देगी कि व्यापमं से लेकर पीडीएस घोटाले तक पर खामोशी क्यों? राफेल से लेकर थर्मल पॉवर घोटाले पर चुप्पी क्यों? नैतिकता है तो खुद से सवाल करो?