हत्या के आरोपी की जगह अखबार ने लगाई श्रीनिवास बीवी की तस्वीर, विवाद बढ़ने के बाद बदली फोटो

बीजेपी के अनुसूचित जाति मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की हुई थी घोषणा, कार्यसमिति में जोड़ा गया था हत्या के आरोपी राजेश जाखोदिया का नाम, आरोपी की तस्वीर की जगह चस्पा कर दी गई श्रीनिवास बीवी की तस्वीर

Updated: Aug 19, 2021, 11:54 AM IST

हत्या के आरोपी की जगह अखबार ने लगाई श्रीनिवास बीवी की तस्वीर, विवाद बढ़ने के बाद बदली फोटो

भोपाल। हिंदी के एक प्रमुख अख़बार ने अपनी एक रिपोर्ट में हत्या के एक आरोपी की जगह यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी की तस्वीर चस्पा कर दी। जब यह मामला खुद श्रीनिवास बीवी के संज्ञान में आया, तब उन्होंने इस बात की निंदा करते हुए अखबार से स्पष्टीकरण की मांग की। श्रीनिवास के बाद सोशल मीडिया पर इस मामले में विरोध बढ़ गया। जिसके बाद अखबार ने खबर से श्रीनिवास की तस्वीर हटा दी। 

दरअसल बीजेपी मध्य प्रदेश के अनुसूचित जाति मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति में हत्या के एक आरोपी नाम शामिल होने वाली खबर में आरोपी की जगह श्रीनिवास बीवी की तस्वीर चस्पा कर दी गई। रिपोर्ट में ब्राउन जैकेट में श्रीनिवास की तस्वीर के नीचे लिखा गया कि ब्राउन कलर के जैकेट में राकेश जाखोदिया (हत्या के आरोपी) की तस्वीर है।

जल्द ही श्रीनिवास बीवी ने इस मामले में संज्ञान लिया और अपने ट्विटर हैंडल पर अखबार को टैग करते हुए कहा कि मेरा नाम श्रीनिवास है, और ये ब्राउन जैकेट में मेरी तस्वीर है। जानबूझकर किया या गलती से हुआ? श्रीनिवास ने इस घटनाक्रम पर अफसोस जाहिर करते हुए कहा कि देश के सबसे बड़े अखबार से मेरी छवि इस तरह खराब करने की उम्मीद बिलकुल भी नहीं थी। 

इस पूरे मामले में विवाद बढ़ने के बाद अखबार ने श्रीनिवास की तस्वीर हटा दी। इसकी जगह अखबार ने बीजेपी के झंडों की तस्वीर लगा दी। जिसके बाद जा कर मामला शांत हुआ। 

क्या है पूरा मामला 

बीजेपी ने स्वाधीनता दिवस के अवसर पर अनुसूचित जाति मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति का एलान किया था। लेकिन इस सूची में शामिल एक नाम ने विवाद बढ़ा दिया। कार्यसमिति की सूची में एक नाम राजेश जाखोदिया का था। जो कि हत्या के आरोप में जेल में बंद है। 

हत्या के आरोपी को प्रदेश कार्यसमिति में जगह देने के बाद बीजेपी की किरकिरी शुरू हो गई। बीजेपी नेताओं ने अपने बचाव में यह कहना शुरू कर दिया कि यह नाम प्रिंट मिस्टेक के कारण लिस्ट में जुड़ गया। 

राकेश जाखोदिया नामक व्यक्ति और उसके बेटे विक्की जाखोदिया ने अप्रैल 2021 में ग्वालियर के अशोक कॉलोनी में रहने वाले संदीप जाटव की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद पुलिस ने राकेश के सिर पर इनाम घोषित कर जल्द ही उसे धर दबोच लिया। जिसके बाद से ही वह ग्वालियर के सेंट्रल जेल में कैद है। जाखोदिया 2014 में हुए नगरीय निकाय चुनाव के दौरान कांग्रेस से टिकट पाने में भी सफल हो गया था, लेकिन चुनावों में उसे हार का सामना करना पड़ा था।