गुजरात दंगों पर BBC की डॉक्यूमेंट्री शांति भंग कर सकती है, JNU प्रशासन ने स्क्रीनिंग पर लगाई रोक

JNUSU की प्रेसिडेंट आइशी घोष की ओर से बीबीसी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग का पोस्टर शेयर किए जाने के बाद JNU प्रशासन ने एक एडवाइजरी जारी की है। जिसमें कार्यक्रम को रद्द करने के निर्देश दिए गए हैं।

Updated: Jan 24, 2023, 12:09 AM IST

गुजरात दंगों पर BBC की डॉक्यूमेंट्री शांति भंग कर सकती है, JNU प्रशासन ने स्क्रीनिंग पर लगाई रोक

नई दिल्ली। गुजरात दंगों की सीक्रेट जांच रिपोर्ट के आधार पर बीबीसी की दो पार्ट्स में बनी डॉक्यूमेंट्री "India: The Modi Question" पर राजनीति गर्मा गयी है। भारत सरकार इसे दुष्प्रचार करार देते हुए तमाम प्लेटफार्म्स पर बैन कर चुकी है। उधर JNUSU ने विश्वविद्यालय परिसर में इसकी स्क्रीनिंग रखी थी। अब विवि प्रशासन ने एडवाइजरी जारी कर कार्यक्रम को रद्द करने के निर्देश दिए हैं।

दरअसल, "India: The Modi Question" डॉक्यूमेंट्री के स्क्रीनिंग के कार्यक्रम को लेकर JNU में पैम्फ्लेट बांटे गए है। जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष ने भी इस डॉक्‍यूमेंट्री का पोस्‍टर शेयर किया है। आइशी घोष ने अपने फेसबुक पेज पर स्क्रीनिंग संबंधी पोस्टर साझा करते हुए कहा कि इस डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग के लिए हमारे साथ जुड़ें, जिसे सबसे बड़े "लोकतंत्र" की "चुनी हुई सरकार" द्वारा "प्रतिबंधित" किया गया है। 

आइशी का पोस्‍ट वायरल होने पर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के प्रशासन ने एक दिन बाद अर्जेंट एडवाइजरी जारी कर दी है। इसमें कहा गया है कि, 'ऐसे अनऑथराइज प्रोग्राम से यूनिवर्सिटी कैंपस की शांति भंग हो सकती है। छात्र-छात्राओं को सलाह है कि इस तरह के विवादित कार्यक्रम न करें। और, जो भी जो छात्र-छात्राएं ऐसा शेड्यूल बना चुके हैं, वे भी इसे रद्द कर दें।' विवि प्रशासन ने स्टूडेंट्स को धमकाते हुए कहा कि ऐसा न करने पर छात्र-छात्राओं के खिलाफ अनुशासनात्मक कारवाई की जाएगी।'

जेएनयू छात्र संगठन द्वारा डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग 24 जनवरी यानी गुरुवार की रात 9 बजे रखी गई है। वहीं प्रशासन चाहता है कि ये डॉक्यूमेंट्री विवि के छात्र न देख सकें। बता दें कि “इंडिया: द मोदी क्वेश्चन” शीर्षक वाली बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री साल 2002 के गुजरात दंगों के बाद की घटनाओं को दिखाती है। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दंगों के दौरान हुए नरसंहार के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया गया है।

यह भी पढ़ें: गुजरात दंगों से जुड़ी BBC की डॉक्यूमेंट्री पर बवाल, केंद्र ने वीडियो शेयर करने वाले ट्वीट्स को ब्लॉक करने का दिया निर्देश

डॉक्यूमेंट्री में बताया गया है कि गुजरात दंगों के दौरान मुस्लिम महिलाओं का योजनाबद्ध तरीके से बलात्कार किया गया था। इस डॉक्यूमेंट्री में दंगों को लेकर पीएम मोदी का इंटरव्यू करने वाली बीबीसी की जिल मैक्गिवरींग का भी बयान है। जिसमें वह नरेंद्र मोदी को काफी खतरनाक व्यक्ति के रूप में वर्णित करती हैं। केंद्र सरकार ने इसे प्रोपगैंडा का हिस्सा करार दिया है। साथ ही इस वीडियो को तमाम प्लेटफार्म से हटा दिया गया है।