Bihar Election 2020: बीजेपी ने जारी की 27 उम्मीदवारों की सूची, श्रेयसी सिंह को मिला जमुई से टिकट

Shreyasi Singh: दिवंगत समाजवादी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री दिग्विजय सिंह की बेटी हैं श्रेयसी, राष्ट्रमंडल खेलों में जीत चुकी हैं निशानेबाजी का गोल्ड मेडल

Updated: Oct 07, 2020 09:55 AM IST

Bihar Election 2020: बीजेपी ने जारी की 27 उम्मीदवारों की सूची, श्रेयसी सिंह को मिला जमुई से टिकट
Photo Courtsey: Amarujala

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने मंगलवार को अपने 27 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है। पार्टी ने इनमें पांच महिला उम्मीदवारों को जगह दिया है। रविवार को बीजेपी में शामिल हुई शूटर श्रेयसी सिंह को भी पार्टी ने टिकट दिया है। श्रेयसी जमुई विधानसभा क्षेत्र से बतौर बीजेपी उम्मीदवार अपना पर्चा भरेंगी।

श्रेयसी के अलावा पार्टी ने भभुआ से रिंकी रानी पांडे, कहलगांव से पवन कुमार यादव, बांका से रामनारायण मंडल, लखीसराय से विजय कुमार सिन्हा, मुंगेर से प्रणव कुमार यादव, बाढ़ से ज्ञानेंद्र कुमार ज्ञान और विक्रम से अतुल कुमार को अपना उम्मीदवार बनाया है। वहीं बढवारा से राघवेंद्र प्रताप सिंह, आरा से अमरेंद्र प्रताप सिंह, तरारी से कौशल कुमार सिंह और मोहनिया सुरक्षित सीट से निरंजन राम पर भरोसा जताया है।

 

इसके अलावा रामगढ़ से अशोक सिंह, बोधगया सुरक्षित सीट से हरि मांझी, गया शहर से प्रेम कुमार और औरंगाबाद से रामाधार सिंह बीजेपी के उम्मीदवार होंगे। बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 16 जिलों के 71 सीटों पर वोटिंग होगी। इसके लिए नामांकन में सिर्फ दो दिन बचे हैं। निर्वाचन आयोग ने पहले चरण के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 8 अक्टूबर तय किया है।

कौन हैं श्रेयसी सिंह ?

अंतरराष्ट्रीय स्तर की शूटर श्रेयसी सिंह की राजनीति में आने की चर्चा पिछले काफी समय से हो रही थी। कयास थे कि वह आरजेडी जॉइन करेंगी हालांकि रविवार को उन्होंने बीजेपी का दामन थाम सभी कयासों पर विराम लगा दिया था। वह 2018 के राष्ट्रमंडल खेलों में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीतने में सफल हुईं थी। साल 2014 के ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों में भी निशानेबाजी की डबल ट्रैप स्पर्धा में रजत पदक जीता था। 

खेलों में उनके योगदान के लिए भारत सरकार ने उन्हें मशहूर अर्जुन अवार्ड से भी सम्मानित किया है। श्रेयसी के दादा सेरेंद्र सिंह व पिता दिग्विजय सिंह काफी समय तक राष्ट्रीय राइफल संघ के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। उनके पिता दिवंगत दिग्विजय सिंह केंद्रीय मंत्री वहीं मां पुतुल कुमारी बांका लोकसभा क्षेत्र से सांसद रह चुकी हैं। साल 2019 में बीजेपी द्वारा उम्मीदवार न बनाए जाने के बाद पुतुल ने बांका से निर्दलीय पर्चा भरा था, हालांकि वह जीतने में सफल नहीं हो सकी थी।