केंद्र ने 8 यूट्यूब चैनल पर लगाया बैन, देशविरोधी सामग्री पोस्ट करने का आरोप, लोकतंत्र टीवी भी शामिल

केंद्र सरकार ने यूट्यूब पर एक पाकिस्तानी सहित 8 यूट्यूब चैनल को प्रतिबंधित कर दिया है, इन चैनलों पर भारत विरोधी भ्रामक जानकारी फैलाने के आरोप थे

Updated: Aug 18, 2022, 12:54 PM IST

केंद्र ने 8 यूट्यूब चैनल पर लगाया बैन, देशविरोधी सामग्री पोस्ट करने का आरोप, लोकतंत्र टीवी भी शामिल

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने एक पाकिस्तानी और 7 भारतीय यूट्यूब चैनल पर बैन लगा दिया है। आरोप है कि ये चैनल भारत विरोधी सामग्री पोस्ट कर रहे थे। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के मुताबिक इन ब्लॉक यूट्यूब चैनल के 114 करोड़ व्यूज थे जबकि 85 लाख 73 हजार सब्सक्राइबर थे। इन चैनलों पर भारत विरोधी सामग्री का प्रचार किया जा रहा था।

केंद्र ने जिन चैनलों को प्रतिबंधित किया है उनमें लोकतंत्र टीवी, यूएंडवी टीवी, एएम राजवी, गौरवशाली पवन मिथलांचल, सी टॉप 5 टीएच, सरकारी अपडेट, सब कुछ देखो और एक पाकिस्तानी चैनल न्यूज की दुनिया शामिल है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने आईटी रूल 2021 के तहत आपात शक्ति का इस्तेमाल करते हुए इन यूट्यूब चैनलों को प्रतिबंधित किया।

यह भी पढ़ें: डिटेंशन सेंटर में ही रहेंगे रोहिंग्या, फ्लैट देने की कोई योजना नहीं, हरदीप पुरी के दावों को गृह विभाग ने किया खारिज

यूट्यूब चैनलों के अलावा मंत्रालय ने एक फेसबुक पेज को भी प्रतिबंधित कर दिया है। यह लोकतंत्र टीवी का फेसबुक पेज है। ब्लॉक किए गए चैनलों पर आरोप है कि ये भारत में दहशत पैदा करने, सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ने और सांप्रदायिक विद्वेष भड़काने वाले कंटेंट लोगों को परोस रहे थे। इसके अलावा जो भी खबरें इनमें प्रसारित हो रही थीं वो असत्यापित थी।

इससे पहले इसी साल जुलाई में भी भारत सरकार ने 78 यूट्यूब न्यूज चैनल और उनके सोशल मीडिया अकाउंट को ब्लॉक कर दिया था। सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने इस संबंध में जानकारी देते हुए कहा था कि इन यूट्यूब न्यूज चैनलों और उनके सोशल मीडिया अकाउंट्स को पूरी तरह से बंद करने का आदेश जारी कर दिया गया।