कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव को लेकर दिग्विजय सिंह की गुगली, बोले- मुझे भी चुनाव लड़ने का अधिकार

दिग्विजय सिंह ने उदयपुर अधिवेशन में पारित "एक व्यक्ति एक पद" वाले पारित प्रस्ताव का जिक्र करते हुए कहा कि अगर गहलोत कांग्रेस के अध्यक्ष बनते हैं तो उन्हें सीएम का पद छोड़ना होगा।

Updated: Sep 21, 2022, 09:46 PM IST

कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव को लेकर दिग्विजय सिंह की गुगली, बोले- मुझे भी चुनाव लड़ने का अधिकार

नई दिल्ली। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव दिलचस्प होता जा रहा है। अब तक अशोक गहलोत और शशि थरूर के ही चुनाव में उतरने की चर्चाएं थीं, लेकिन दिग्विजय सिंह के एक बयान ने इसमें ट्विस्ट ला दिया है। सिंह ने कहा कि मुझे भी चुनाव लड़ने का अधिकार है। अब कयास लगाए जा रहे हैं कि दिग्विजय सिंह भी चुनावी मैदान में आ सकते हैं। 

दरअसल, दिग्विजय सिंह ने बुधवार को NDTV से बातचीत के दौरान कहा कि, 'आप मुझे इस रेस बाहर क्यों रख रहे हैं? कोई भी कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ सकता है। चुनाव लड़ने से किसी को रोका नहीं जा सकता है। मुझे भी चुनाव लड़ने का अधिकार है। 30 सितंबर तक का इंतजार कीजिए।' बता दें कि 30 सितंबर ही अध्यक्ष पद के लिए नामांकन की आखिरी तारीख है।

दिग्विजय सिंह ने अशोक गहलोत कि उम्मीदवारी को लेकर भी अहम टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि अशोक गहलोत अनुभवी नेता हैं और राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए उपयुक्त हैं। हालांकि, उन्होंने उदयपुर अधिवेशन में पारित "एक व्यक्ति एक पद" वाले पारित प्रस्ताव का जिक्र करते हुए यह भी कहा कि अगर गहलोत कांग्रेस के अध्यक्ष बनते हैं तो उन्हें सीएम का पद छोड़ना होगा। सिंह ने इस बात की संभावनाओं से भी इनकार नहीं किया कि ऐसा होने पर पर सचिन पायलट राजस्थान के मुख्यमंत्री बन सकते हैं। 

दिग्विजय सिंह ने राहुल गांधी की भूमिका को लेकर कहा कि कहा कि राहुल वह जिम्मेदारी निभाएंगे जो कांग्रेस अध्यक्ष की ओर से उन्हें दिया जाएगा। भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी के कांग्रेस फेस होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वह उन 119 यात्रियों में से एक हैं, जो कन्याकुमारी से कश्मीर तक की यात्रा कर रहे हैं।

सियासी गलियारों में चर्चा है कि सीएम अशोक गहलोत का नाम अध्यक्ष पद की रेस में सबसे आगे है। हालांकि, उन्होंने चुनाव लड़ने संबंधी कोई औपचारिक ऐलान नहीं किया है। गहलोत ने बुधवार शाम सोनिया गांधी से दिल्ली में उनके आवास पर मुलाकात की और दो घंटे से ज्यादा समय तक चर्चा की। खबरों के मुताबिक इस मुलाकात के दौरान सोनिया गांधी ने स्पष्ट कर दिया है कि चुनाव में न्यूट्रल रहेंगी और किसी भी नेता का पक्ष नहीं लेंगी।

उधर शशि थरूर ने बुधवार को कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री से मुलाकात की और अपनी उम्मीदवारी को लेकर चर्चा की। मिस्त्री ने बताया कि थरूर चुनाव प्रक्रिया से संतुष्ट हैं। बता दें कि कांग्रेस अध्‍यक्ष चुनाव के लिए अधिसूचना 22 सितंबर को जारी की जाएगी। नामांकन भरने की आखिरी तारीख 30 सितंबर है। वहीं, 17 अक्‍टूबर को चुनाव होगा और मतों की गिनती 19 अक्‍टूबर को की जाएगी।