ED में राहुल गांधी की पूछताछ से पहले विरोध कर रहे कांग्रेस नेता हिरासत में, बहन प्रियंका भी साथ

राहुल गांधी को आज नेशनल हेराल्ड केस में ईडी यानी प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश होना है, विरोधस्वरूप कांग्रेस ने दिल्ली समेत पूरे देश में सड़कों पर उतरने का एलान किया है, मगर दिल्ली पुलिस ने क़ानून व्यवस्था और वीवीआईपी मूवमेंट का हवाला देकर इन प्रदर्शनों पर रोक लगा दी है... कांग्रेस कार्यकर्ताओं को कांग्रेस दफ़्तर से डिटेन भी किया गया है जिसे कांग्रेस ने मोदी सरकार की तानाशाही करार दिया है..

Updated: Jun 13, 2022, 01:07 PM IST

ED में राहुल गांधी की पूछताछ से पहले विरोध कर रहे कांग्रेस नेता हिरासत में, बहन प्रियंका भी साथ
photo Courtesy: Patrika

दिल्ली। आज सुबह 11 बजे राहुल गांधी ईडी यानी प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश होनेवाले हैं। नेशनल हेराल्ड केस में ईडी ने राहुल गांधी को पूछताछ के लिए समन किया है। कांग्रेस इसके विरोध में दिल्ली से लेकर पूरे देश में सड़कों पर उतर रही है। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने कानून व्यवस्था और वीवीआईपी सुरक्षा का हवाला देकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को विरोध प्रदेरशन की इजाज़त देने से मना कर दिया है। कुछ कांग्रेस कार्यकर्ताओं को AICC यानी कांग्रेस मुख्यालय से हिरासत में भी लिया गया है। कांग्रेस ने इसे मोदी सरकार की कायरता करार देते हुए पुलिस को आगे कर अंग्रेज़ों की भांति कांग्रेस की विरासत को चलाने से रोकने का अभियान बताया है।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी, लॉ एंड ऑर्डर सागर प्रीत हुड्डा ने मीडिया से बातचीत में बताया कि दिल्ली में पहले ही धारा 144 लागू है। कांग्रेस ने 200 आफिस बीयरर्स और 1000 कार्यकर्ताओं के पार्टी आफिस में एकत्रित होने की अनुमति मांगी थी लेकिन हमने उन्हें सिर्फ 100 लोगों के पार्टी दफ्तर में आने की अनुमति दी। स्पेशल सीपी, लॉ एंड ऑर्डर सागर प्रीत हुड्डा ने यह भी कहा कि उन्होंने कांग्रेस को बड़ी भीड़ के साथ जंतर मंतर जाने का सुझाव दिया, जिसे उन्होंने स्वीकार नहीं किया तो 100 से ऊपर गए लोगों को डिटेन करना पड़ा।  

बताया जा रहा है कि राहुल गांधी ईडी दफ्तर तक पैदल मार्च करके जाएंगे और उनके साथ कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य, सांसद और वरिष्ठ नेता भी पैदल मार्च करेंगे। इससे पहले कुछ नेताओं को हाउस अरेस्ट करने और कुछ को प्रदर्शन की तैयारी के दौरान पुलिस द्वारा रोकने की खबरें भी हैं। दरअसल कांग्रेस ने राहुल गांधी के समर्थन में पूरे देश में सत्याग्रह मार्च करने का ऐलान किया है। कांग्रेस ईडी दफ्तरों के आगे भी पूरे देश में प्रदर्शन कर रही है। कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला ने अब से कुछ देर पहले प्रेस कांफ्रेस करके कहा है कि मोदी सरकार राहुल के सवाल पूछने से डर गयी है। केंद्र की सरकार द्वारा पुलिस बल की तैनाती से यही प्रतीत होता है।

दरअसल नेशनल हेराल्ड केस में ईडी ने राहुल गांधी और सोनिया गांधी को पूछताछ के लिए समन भेजा है। यह समन 8 जून को पेशी के लिए था। लेकिन उस वक्त राहुल गांधी विदेश में थे और सोनिया गांधी कोविड पॉजिटिव हो गयीं तो हाज़िरी की तारीख 13 जून की गयी। इस पूछताछ में सोनिया गांधी शामिल नहीं हो सकेंगी क्योंकि कोविड की हालत में वो दिल्ली के गंगा राम अस्पताल में भर्ती हैं। डॉक्टरों ने उन्हें अपनी निगरानी में रखने की बात कही है।