चक्रवात यास का बंगाल में कहर, एक करोड़ लोग प्रभावित, तीन लाख घर क्षतिग्रस्त

पश्चिम बंगाल में चक्रवात यास का बड़ा असर देखने को मिला। सरकार के अनुसार चक्रवात का असर एक करोड़ लोगों पर पड़ा है, जबकि तीन लाख घरों को नुकसान पहुंचा है। अब तक एक की मौत हुई है।

Updated: May 26, 2021, 06:58 PM IST

चक्रवात यास का बंगाल में  कहर, एक करोड़ लोग प्रभावित, तीन लाख घर क्षतिग्रस्त
Photo courtesy: ABP

कोलकाता। चक्रवती तूफान यास बंगाल और उड़ीसा में कहर बन कर टूटा है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दावा किया कि चक्रवात ‘यास’ के कारण मौसम संबंधी प्रतिकूल परिस्थितियों की वजह से राज्य में कम से कम 1 करोड़ लोग प्रभावित हुए, वहीं, तीन लाख से ज्यादा मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। ममता बनर्जी ने कहा कि मछलियां पकड़ने गए एक व्यक्ति की ‘दुर्घटनावश’ मौत हो गई है।


सीएम ममता बनर्जी ने लोगों को सचेत करते हुए कहा तूफान के कारण समुद्र में ऊंची लहरें उठती रहेंगी। सभी लोग सुरक्षित स्थान  पर रहें। उन्होंने दावा किया कि बंगाल चक्रवात से ‘सबसे अधिक प्रभावित’ हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 15,04,506 लोगों को संवेदनशील स्थानों से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।


ममता बनर्जी ने कहा, ‘‘मैं पूर्व मेदिनीपुर, दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना जिलों में प्रभावित इलाकों का जल्द ही हवाई सर्वेक्षण करूंगी।’’ उन्होंने कहा कि अभी सरकार के पास चक्रवात के कारण हुए नुकसान संबंधी प्रारंभिक आंकड़े हैं। ममता बनर्जी ने कहा कि नुकसान संबंधी सटीक जानकारी मिलने में कम से कम 72 घंटे लगेंगे


‘यास’ बुधवार सुबह करीब नौ बजे तट पर टकराने के साथ ही उत्तरी ओडिशा एवं पड़ोसी पश्चिम बंगाल में भीषण चक्रवाती तूफान बन कर अपना प्रभाव दिखाना शुरू कर दिया, जहां इस दौरान 130-140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं। चक्रवात यास को लेकर बंगाल झारखंड को हाई एलर्ट पर रखा गया है। बंगाल के दीघा में तूफान का असर सबसे ज्यादा रहा। यहां सड़कों और घरों पर पानी भर गया। 

मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान यास 60-70 घंटे की रफ्तार से कल सुबह झारखंड पहुँचने की संभावना जताई है। सबसे ज्यादा नुकसान पहुँचाने वाली हवा बालेश्वर, भद्रक और पश्चिम बंगाल के मिदिनापुर में चल रही है। मौसम विभाग के अनुसार लैंड फॉल की प्रकिया खत्म हो गई है। धीरे -धीरे  तूफान कमजोर हो जाएगा।