आज कृषि कानूनों की प्रतियां जलाएंगे किसान, नहीं मनाएंगे रंगों का त्योहार

दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आज नए कृषि कानूनों की प्रतियां जलाएंगे, आंदोलन में शहीद हुए किसानों के कारण इस मर्तबा किसान होली नहीं मनाएंगे

Publish: Mar 28, 2021, 10:42 AM IST

आज कृषि कानूनों की प्रतियां जलाएंगे किसान, नहीं मनाएंगे रंगों का त्योहार
Photo Courtesy: ABP News

 

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन का आज 123 वां दिन है। होलिका दहन के अवसर पर किसानों ने विरोध का अनूठा तरीका ढूंढ निकाला है। दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे किसान आज कृषि कानूनों की प्रतियां जलाएंगे। और कृषि कानूनों के प्रति अपने विरोध को ज़ाहिर करेंगे।

यह भी पढ़ें : भोपाल में एक ही घर में शादी करने पहुंचे सात दूल्हे, घर में लटका मिला ताला तब हुआ शादी रैकेट का भंडाफोड़ 

हालांकि किसान होली के दिन रंग नहीं खेलेंगे। किसानों ने यह फैसला आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों को लेकर लिया है। किसानों का कहना है कि चूंकि इस आंदोलन में कई किसानों ने अपने प्राणों की आहुति दी है, इसलिए वे सभी होली के अवसर पर रंग नहीं खेलेंगे। किसानों का कहना है मृतक किसानों के परिजन इस बार होली नहीं खेलने जा रहे हैं, ऐसे में हम भी उनके इस दुख दर्द में उनका साथ देंगे। किसानों ने कहा है कि वे इस अवसर पर तिलक लगाएंगे। 

यह भी पढ़ेंहोमगार्ड पुष्पराज के शव मिलने से पहले हुई थी अस्पताल के शौचालय की सफाई, होमगार्ड मौत मामले में जेपी अस्पताल की बड़ी लापरवाही

केंद्र के कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग को लेकर किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं। कड़ाके की ठंड बीतने और गर्मी के दस्तक के बीच सरकार और किसानों के बीच कई दौर की वार्ताएं हुईं लेकिन वे सभी बेनतीजा ही निकलीं। सरकार कृषि कानूनों में संशोधन और उनके क्रियान्वयन को डेढ़ साल तक रोकने के लिए राज़ी है लेकिन कृषि कानूनों को रद्द करने की कोई मंशा नहीं है।