Rahul Gandhi: मोदी सरकार खत्म कर रही रोजगार देने वाला असंगठित क्षेत्र

Rahul Gandhi Video Series: नोटबंदी, जीएसटी और लॉकडाउन से बिगड़ी अर्थव्यवस्था, असंगठित क्षेत्र को खत्म कर लोगों को गुलाम बनाना चाहती है सरकार

Updated: Aug-31, 2020, 09:16 PM IST

Rahul Gandhi: मोदी सरकार खत्म कर रही रोजगार देने वाला असंगठित क्षेत्र
Photo Courtesy: The Tribune India

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अर्थव्यवस्था की स्थिति को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है  कि नोटबंदी, ‘गलत जीएसटी’ और लॉकडाउन का मकसद असंगठित क्षेत्र को खत्म करना है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर असंगठित क्षेत्र नष्ट हो गया तो देश रोजगार पैदा नहीं कर पाएगा। 

कांग्रेस नेता ने एक वीडियो जारी कर कहा कहा, ‘‘जब 2008 में जबरदस्त आर्थिक तूफान आया तो मैंने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से पूछा था कि पूरी दुनिया में आर्थिक नुकसान हुआ है मगर हिंदुस्तान में कोई असर क्यों नहीं हुआ? उन्होंने उस वक्त कहा था कि जब तक हिंदुस्तान का असंगठित सिस्टम मजबूत है, तब तक देश को कोई भी आर्थिक तूफान छू नहीं सकता।’’

राहुल गांधी ने आरोप लगाया, ‘‘पिछले 6 साल से भाजपा की सरकार ने असंगठित क्षेत्र की व्यवस्था पर आक्रमण किया है। इसके तीन बड़े उदाहरण नोटबंदी, गलत जीएसटी और लॉकडाउन हैं।’’

उन्होंने यह दावा किया, ‘‘यह मत सोचिए कि लॉकडाउन के पीछे सोच नहीं थी। यह मत सोचिए कि आखिरी मिनट पर लॉकडाउन कर दिया गया। इन तीनों का लक्ष्य हमारे असंगठित क्षेत्र को खत्म करने का है।’’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने आरोप लगाया, ‘‘प्रधानमंत्री जी को अगर सरकार चलानी है तो मीडिया की जरूरत है, मार्केटिंग की जरूरत है। मीडिया और मार्केटिंग 15-20 लोग करते हैं। यही लोग असंगठित क्षेत्र का पैसा लेना चाहते हैं।’’

उन्होंने कहा कि असंगठित क्षेत्र 90 प्रतिशत से ज्यादा रोजगार देता है। जिस दिन यह सेक्टर नष्ट हो गया उस दिन हिंदुस्तान रोजगार नहीं पैदा कर पाएगा।

Click: Corona Impact: G-20 देशों में सबसे खराब रह सकती है भारत की आर्थिक वृद्धि दर

कांग्रेस नेता यह दावा भी किया, ‘‘आप (असंगठित क्षेत्र के लोग) ही इस देश को चलाते हो, आप ही इस देश को आगे ले जाते हो और आप ही के खिलाफ साजिश हो रही है। आपको ठगा जा रहा है और आपको गुलाम बनाने की कोशिश की जा रही है। हमें इस आक्रमण को पहचानना पड़ेगा और पूरे देश को मिलकर इसके खिलाफ लड़ना पड़ेगा।’’