हिमंत बिस्वा सरमा का दावा, असम से चला गया है कोरोना, लोगों को नहीं पहनना चाहिए मास्क

चुनावी दौर में हिमंत बिस्वा सरमा की अनर्गल बयानबाज़ी, कहा, असम के लोगों को मास्क पहनने की ज़रूरत नहीं

Publish: Apr 04, 2021, 02:05 PM IST

हिमंत बिस्वा सरमा का दावा, असम से चला गया है कोरोना, लोगों को नहीं पहनना चाहिए मास्क
Photo Courtesy: Deccan Herald

गुवाहाटी। असम सरकार में स्वास्थ्य मंत्रालय जैसे ज़िम्मेदार मंत्रालय का कार्यभार संभाल रहे हिमंत बिस्वा सरमा का दावा है कि असम से कोरोना चला गया है। इतना ही नहीं बीजेपी नेता ने तो राज्य के लोगों को मास्क न लगाने तक की हिदायत दे डाली है। बिस्वा सरमा का दावा है कि चूंकि असम से कोरोना रफू चक्कर हो गया है इसलिए राज्य के लोगों को मास्क पहनना बंद कर देना चाहिए। 

बीजेपी नेता ने एक डिजिटल प्लेटफॉर्म को दिए अपने इंटरव्यू के दौरान यह बात कही है। बिस्वा सरमा ने कहा है कि चूंकि असम से कोरोना चला गया है, इसलिए लोगों को मास्क लगाना बंद कर देना चाहिए। बीजेपी नेता ने तो यह भी कहा है कि जब असम में कोरोना वापस आएगा, तब वे लोगों को मास्क पहनने के लिए कहेंगे। 

हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा, 'आज की तारीख में असम से कोरोना चला गया है। इसलिए यहां के लोगों को मास्क पहनने की ज़रूरत नहीं है। केंद्र सरकार जो चाहे गाइडलाइन जारी कर सकती है। जब राज्य में कोरोना वापस आएगा तब मैं लोगों को दोबारा मास्क पहनने के लिए कहूंगा।' 

बीच चुनाव बीजेपी नेता के इस बयान से खुद नेता और उनकी पार्टी की किरकिरी हो सकती है। वैसे भी केंद्र की मोदी सरकार सहित भाजपा शासित तमाम राज्य सरकारों को कोरोना और रैलियों के आयोजन को लेकर जमकर विपक्षी दलों की आलोचनाओं का शिकार होना पड़ता है। विपक्ष दल खासकर कांग्रेस मोदी सरकार और बीजेपी सरकारों पर यही तंज कसती है कि जब जहां चुनाव होते हैं, उस जगह बीजेपी के लिए कोरोना नहीं होता।

बहरहाल किसी राज्य के स्वास्थ्य मंत्री की ओर से ऐसा गैर ज़िम्मेदाराना बयान आना अपने आप में कई सवालों को जन्म दे देता है। जब किसी राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के बयान में ही गंभीरता और ज़िम्मेदारी नहीं झलकेगी। तब उनके विभाग की कार्यशैली पर आखिर कोई कैसे भरोसा कर पाएगा?