मैं भी चाहता था कि मायावती पीएम बनें, BSP चीफ के बयान पर अखिलेश यादव का पलटवार

मायावती ने गुरुवार को कहा था कि वह सिर्फ प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री बनना चाहती हैं, राष्ट्रपति बनना नहीं चाहती, इसपर अखिलेश यादव ने पलटवार किया है

Updated: Apr 29, 2022, 09:03 AM IST

मैं भी चाहता था कि मायावती पीएम बनें, BSP चीफ के बयान पर अखिलेश यादव का पलटवार
Photo Courtesy: Theprint

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (BSP) कि राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने समाजवादी पार्टी पर अफवाह फैलाने का आरोप लगाया है। मायावती के मुताबिक सपा की वजह से ही उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी है। बीएसपी चीफ ने कहा कि सपा के लोग अब ये अफवाह फैला रहे हैं कि मैं राष्ट्रपति बनना चाहती हूं। जबकि मैं प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री बनने के सपने देखती हूं, मैं राष्ट्रपति कभी नहीं बनना चाहती।

बीएसपी चीफ के इस बयान पर समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने पलटवार किया है। अखिलेश ने कहा, 'मैं इस बयान से खुश हूं। मैं भी यही चाहता था कि मायावती प्रधानमंत्री बनें। 2019 के लोकसभा चुनावों में बसपा के साथ गठबंधन इसी के लिए बनाया था। अगर बहुजन समाज के लोगों के साथ गठबंधन जारी रहता है, तो बसपा और डॉ भीम राव अंबेडकर के सिद्धांतों का पालन करने वाले देखते कि देश का प्रधानमंत्री कौन बनता है।'

यह भी पढ़ें: अयोध्या में दंगे भड़काने की साजिश नाकाम, टोपी पहनकर हिंदू युवकों ने फेंका मांस, 7 आरोपी गिरफ्तार

अखिलेश यादव ने ये बातें गुरुवार को लखनऊ में आयोजित एक इफ्तार पार्टी के बाद पत्रकारों द्वारा सवाल पूछे जाने के बाद कही। बातचीत के दौरान उन्‍होंने योगी सरकार पर निशाना भी साधा। अखिलेश ने आरोप लगाया कि प्रदेश में बुलडोजर 'जाति और धर्म' देखकर चलाया जा रहा है। सपा अध्‍यक्ष ने कहा, ' यदि वे भाजपा के लोगों के घर और मकान को गिराते हैं, तो वे मुआवजा देंगे। गोरखपुर में 700 मीटर में दुकानों को तोड़ा गया और उसके बाद मुआवजा दिया गया। सुनने में आ रहा हैं कि 100-150 करोड़ रुपये नहीं बल्कि 200 करोड़ मुआवजा उठाया गया।'