मुझे किडनैपकर जबरन इंजेक्शन लगाया, बेहोश करने की कोशिश हुई, शिवसेना MLA का चौंकानेवाला खुलासा

शिवसेना विधायक नितिन देशमुख ने बताया कि उन्हें किडनैपकर सूरत ले जाया गया था, जब वह भागने की कोशिश कर रहे थे तो पुलिसवाले उन्हें उठाकर अस्पताल ले गए जहां उन्हें जबरन इंजेक्शन दिया गया

Updated: Jun 22, 2022, 02:38 PM IST

मुझे किडनैपकर जबरन इंजेक्शन लगाया, बेहोश करने की कोशिश हुई, शिवसेना MLA का चौंकानेवाला खुलासा

मुंबई। शिवसेना के लापता विधायक नितिन देशमुख महाराष्ट्र वापस लौट आए हैं। उन्होंने मीडिया के सामने कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। देशमुख ने बताया कि उन्हें किडनैप कर सूरत ले जाया गया था। वहां से वे लगातार भागने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन पुलिस वालों ने उन्हें पकड़ लिया। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें जबरन इंजेक्शन लगाया गया और बेहोश करने की कोशिश की गई।

सुरता से किसी तरह भागकर नागपुर पहुंचे नितिन देशमुख ने स्पष्ट कर दिया है कि वे उद्धव ठाकरे के साथ हैं। नितिन देशमुख ने कहा कि, होटल से मैं भाग गया था और सुबह लगभग 3 बजे सड़क पर खड़ा था। मैं लोगों से लिफ्ट मांगने की कोशिश कर रहा था। तभी सौ से अधिक पुलिस वाले आ गए और वे मुझे अस्पताल ले गए। वहां अस्पताल में पुलिस वालों ने डॉक्टरों को बताया कि मुझे हार्ट अटैक आया है। लेकिन यह झूठ था।'

यह भी पढ़ें: Maharashtra political crisis live: शाम 5 बजे शिवसेना ने बुलायी विधायकों की बैठक, सीएम हाउस पर एकजुट होंगे पार्टी नेता

अनिल देशमुख ने आगे बताया कि डॉक्टरों ने उन्हें जबरन इंजेक्शन दी। उन्हें नहीं पता ये किस चीज का इंजेक्शन था। उन्हें बेहोश करने की कोशिश की जा रही थी। वह किसी प्रकार सूरत के अस्पताल से निकलकर नागपुर पहुंचे हैं। इसके पहले शिवसेना ने जो विधायकों के अपहरण का आरोप लगाया था, वो नितिन देशमुख के सामने आने के बाद पुष्ट हो रहा है। हालांकि, उन्होंने ये नहीं बताया कि अन्य विधायक मर्जी से गए हैं या उनका भी अपहरण किया गया है।

इसके पहले उनकी पत्नी प्रांजलि देशमुख ने अकोला के सिविल लाइंस पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके पति से सोमवार रात से संपर्क नहीं हो रहा है। उन्होंने तब पुलिस को बताया था कि एकनाथ शिंदे से नोकझोंक के बाद से वह गायब हैं। नितिन देशमुख की पत्नी की शिकायत भी इस ओर इशारा कर रही है कि कुछ विधायकों को जबरन ले जाया गया है। अगर वो खुद से गए होते तो पत्नी को जरूर बताते।

सूरत के एक स्थानीय शिवसेना नेता परेश खेर ने मीडिया को बताया कि नितिन देशमुख होटल से निकलकर एक चौराहे पर आए, जहां उन्होंने हम लोगों से मुंबई जाने के लिए मदद मांगी। हम लोग जब तक चौराहे पर पहुंचे, तब तक उन्हें पुलिस पकड़कर होटल ले जा रही थी। हम लोग भी उनके पीछे-पीछे चल दिए, लेकिन होटल के बाहर हमें रोक दिया गया।