नौकरी पर नहीं लौटे तो होंगे सस्पेंड, सीएम मान की चेतावनी के बाद काम पर लौटे PCS अधिकारी

बता दें कि पंजाब लोक सेवा (PCS) के अधिकारी लुधियाना में राज्य सतर्कता ब्यूरो द्वारा उनके एक साथी की गिरफ्तारी के विरोध में 5 दिन के लिए सामूहिक आकस्मिक अवकाश पर चले गए थे।

Updated: Jan 12, 2023, 09:41 AM IST

नौकरी पर नहीं लौटे तो होंगे सस्पेंड, सीएम मान की चेतावनी के बाद काम पर लौटे PCS अधिकारी

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के सस्पेंड करने की चेतावनी के बाद पीसीएस अधिकारियों ने अपनी हड़ताल वापस ले ली। अपने सहकर्मी की 'अवैध' गिरफ्तारी के विरोध में पंजाब लोक सेवा (पीसीएस) के अधिकारी सामूहिक हड़ताल पर थे। भगवंत मान ने उन्हें चेतावनी दी थी कि वे दोपहर दो बजे तक ड्यूटी पर लौट आएं, अन्यथा उन्हें सस्पेंड कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस तरह की हड़ताल 'ब्लैकमेलिंग और दबाव की रणनीति' की श्रेणी में आती है।

इस बीच सीएम भगवंत मान के प्रधान निजी सचिव ए. वेणु प्रसाद के साथ पीसीएस अधिकारी एसोसिएशन की बैठक हुई जिसमें पीसीएस अधिकारियों ने काम पर वापस लौटने पर सहमति जताई है। बता दें कि पंजाब लोक सेवा (PCS) के अधिकारी लुधियाना में राज्य सतर्कता ब्यूरो द्वारा उनके एक साथी की गिरफ्तारी के विरोध में 5 दिन के लिए सामूहिक आकस्मिक अवकाश पर चले गए थे।

पंजाब में पीसीएस अधिकारियों से सरकार ने किसी भी तरह की वार्ता या बैठक करने से इनकार कर दिया था, लेकिन बाद में प्रधान निजी सचिव ए. वेणु प्रसाद बातचीत के लिए तैयार हो गए थे। राज्य के मुख्य सचिव ने इन अधिकारियों को पत्र लिखकर कहा था कि उनकी सामूहिक छुट्‌टी या हड़ताल के दौरान सेवाएं डाइस नॉन यानी “सर्विस इन ब्रेक” मानी जाएंगी। इस आदेश का सीधा अधिकारियों के प्रमोशन, पेंशन और अन्य मिलने वाले लाभों पर पड़ेगा।