UP में आतंक की साजिश नाकाम, बड़े आत्मघाती हमले की थी योजना, 5 आतंकी अब भी फरार, कमांडो ऑपरेशन जारी

लखनऊ काकोरी में 7 घंटे से चल रही है ATS ऑपरेशन, बड़ी मात्रा में गोला-बारूद, प्रेशर कुकर और टाइमर डिवाइस बरामद, कई बड़े नेताओं के निशाने पर होने की खबर

Updated: Jul 11, 2021, 07:02 PM IST

UP में आतंक की साजिश नाकाम, बड़े आत्मघाती हमले की थी योजना, 5 आतंकी अब भी फरार, कमांडो ऑपरेशन जारी
Photo Courtesy : NDTV

लखनऊ। उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ के काकोरी इलाके में एंटी टेररिस्ट स्क्वाड का ऑपरेशन पिछले सात घंटे से जारी है। पुलिस ने इस दौरान अल कायदा के दो फिदायीन हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि पांच अन्य आतंकियों के फरार होने की भी खबर है। पुलिस ने इस मामले में खुलासा किया है कि आतंकियों की प्लानिंग राजधानी के भीड़-भाड़ वाले इलाकों में आत्मघाती हमला करने की थी।

पुलिस ने आज शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अल कायदा के इस यूनिट के खतरनाक मंसूबों का खुलासा किया है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी प्रशांत कुमार ने इस दौरान बताया कि सर्च ऑपरेशन के दौरान लखनऊ के रहने वाले मिनाज अहमद और नसीरुद्दीन को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा, 'एटीएस यूपी ने एक बड़े आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश किया है। हमारी टीम ने अलकायदा के अंसार गजवा-उल-हिंद से जुड़े दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है। हथियारों का जखीरा और विस्फोटक सामग्री भी बरामद की गई है।' 

रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपी ATS को एक गैराज में अलकायदा के आतंकियों के छिपे होने का इनपुट मिला था। इसके बाद एटीएस काफी दिनों से इस घर पर नजर बनाए हुई थी। इस दौरान एटीएस को यहां पर तीन चार संदिग्ध युवक कई दिनों से आते-जाते दिखे। संदिग्ध गतिविधायों के चलते एटीएस के मुखबिर इस घर पर 24 घंटे निगरानी बनाए हुए थे।

यह भी पढ़ें: होशियार! अमित शाह आ रहे हैं, घरों के खिड़की-दरवाजे बंद कर लें, गुजरात पुलिस का अजीबोगरीब फरमान

एटीएस को जब घर के भीतर आतंकियों के होने के पुख्ता सबूत मिल गए तब आज ये सुबह ये ऑपरेशन शुरू किया है। स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर एटीएस ने संदिग्ध बिल्डिंग के आसपास के पूरे इलाके को सील कर दिया। इसके बाद 500 मीटर के दायरे में बने सभी घर खाली करा दिए गए और फिर एटीएस ने अपना ऑपरेशन शुरू किया। ऑपरेशन के दौरान गनीमत ये रही कि एनकाउंटर नहीं हुआ क्योंकि आतंकियों ने स्थिति को भांपते हुए सरेंडर करने में ही भलाई समझी। 

सूत्रों के मुताबिक इस ऑपरेशन के दौरान जो दो आतंकी पकड़े गए हैं उनकी हैंडलिंग पाकिस्तान से हो रही थी और दोनों ट्रेनिंग प्राप्त आतंकी हैं। वहीं आशंका है कि करीब पांच आतंकी फरार हैं। ऐसे में लखनऊ से लगे अन्य जिलों में भी अलर्ट जारी किया गया है। रायबरेली, सीतापुर, बाराबंकी बॉर्डर पर चेकिंग बढ़ा दी गई है। अबतक मिली जानकारी के मुताबिक मौके से टाइम बम बनाने में इस्तेमाल होने वाले 7 किलो विस्फोटक और उससे जुड़े प्रोडक्ट बरामद हुए हैं। साथ ही IED एक्सप्लोसिव बरामद किया गया है। प्रेशर कुकर के जरिए टाइमर डिवाइस से विस्फोट का साजिश बताई जा रही है।