महाराष्ट्र पंचायत चुनाव: कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना गठबंधन की बड़ी जीत, बीजेपी को झटका

महाराष्ट्र की 12,711 ग्राम पंचायत सीटों पर हुआ चुनाव, महा विकास अघाड़ी को मिलीं 7336 सीटें (शिवसेना-3113, एनसीपी-2400, कांग्रेस-1823), बीजेपी को अब सिर्फ 2632 सीटें

Updated: Jan 19, 2021, 10:11 AM IST

महाराष्ट्र पंचायत चुनाव: कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना गठबंधन की बड़ी जीत, बीजेपी को झटका
Photo Courtesy : Aaj Tak

मुंबई। महाराष्ट्र के ग्राम पंचायत चुनावों में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है, जबकि कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना के गठबंधन महाविकास अघाड़ी का प्रदर्शन शानदार रहा है। हालाँकि चुनाव नतीजों में बुरी तरह पिटने के बावजूद बीजेपी नेता निर्दलीयों में अपने समर्थकों के जीतने के दावे करके अपनी पीठ ख़ुद ही थपथपा रहे हैं।

महाराष्ट्र के 34 ज़िलों की 12,711 ग्राम पंचायत सीटों पर हुए चुनाव के अब तक आए नतीजों के मुताबिक़ शिवसेना को 3113, एनसीपी को 2400 और कांग्रेस को 1823 सीटें हासिल हुई हैं। इन्हें जोड़ दें तो महा विकास अघाड़ी गठबंधन को कुल 7336 सीटें मिल रही हैं। इनके मुक़ाबले बीजेपी को महज 2632 सीटों पर ही जीत हासिल हुई है, जबकि निर्दलीय उम्मीदवार 2344 सीटों पर विजयी हुए हैं। इनके अलावा राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना को महज़ 36 सीटों से संतोष करना पड़ा है।

हालाँकि बीजेपी अब भी चुनाव में सफलता के दावे कर रही है। मीडिया में आई ख़बरों के मुताबिक़ पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का दावा है कि बीजेपी को अभूतपूर्व सफलता मिल रही है। प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल तो 6000 से अधिक ग्राम पंचायतों में बीजेपी की सफलता के दावे कर रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री बालासाहब थोराट ने कहा है कि राज्य के ग्राम पंचायत चुनाव में महा विकास आघाड़ी की भारी जीत हुई है। राज्य के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार और गृह मंत्री अनिल देशमुख ने भी नतीजों पर ख़ुशी ज़ाहिर की है। देशमुख ने कहा है कि इन परिणामों से पता चलता है कि राज्य में तीनों पार्टिंयां मिलकर बहुत अच्छा काम कर रही हैं। यह बात पिछले महीने हुए विधान परिषद चुनाव में भी साबित हो चुकी है।

पंचायत चुनाव के नतीजों पर शिवसेना के मुखपत्र सामना में बीजेपी पर करारा तंज़ किया गया है। शिवसेना ने लिखा है कि भारतीय जनता पार्टी को अब समझना चाहिए कि राज्य में ईडी, सीबीआई और आईटी विभाग राजनीतिक जीत नहीं दिला सकते हैं। बीजेपी ने राज्य की महा विकास अघाड़ी सरकार को लगातार बदनाम करने की कोशिश की, लेकिन जनता ने एक बार फिर वोटों के ज़रिए अपना रुख़ साफ़ कर दिया है।

बीते शुक्रवार को महाराष्ट्र के 34 जिलों की इन 12,711 ग्राम पंचायतों पर 79 फीसदी वोटिंग हुई थी। इससे पहले पिछले साल 11 दिसंबर को प्रदेश की 14,234 ग्राम पंचायतों पर चुनाव की घोषणा की गई थी, लेकिन कुछ स्थानीय निकायों में निर्विरोध उम्मीदवार चुन लिए गए थे। माना जा रहा है कि 2 बजे तक पूरा रिजल्ट घोषित हो सकता है। पहले महाराष्ट्र में पंचायत चुनाव पिछले साल अप्रैल से जून के बीच होने थे, लेकिन कोरोना महामारी और लॉकडाउन के कारण 17 मार्च 2020 को चुनाव कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया था।