पाकिस्तान के राष्ट्रपिता हैं महात्मा गांधी, मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी सुधाकर चतुर्वेदी का विवादित बयान

सुधाकर चतुर्वेदी ने कहा कि इस देश में गांधी की हजारों मूर्तियां हैं, लेकिन गोडसे की मूर्तियां नहीं है, चतुर्वेदी ने कहा कि देश में जगह जगह पर गोडसे और सावरकर की मूर्तियां लगाई जानी चाहिए

Publish: Apr 08, 2022, 05:53 PM IST

पाकिस्तान के राष्ट्रपिता हैं महात्मा गांधी, मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी सुधाकर चतुर्वेदी का विवादित बयान
Photo Courtesy: Jansatta

नई दिल्ली। मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी सुधाकर चतुर्वेदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर विवादित बयान दिया है। हिंदू महासभा के नेता सुधाकर चतुर्वेदी ने कहा है कि गांधी हिंदुस्तान के नहीं पाकिस्तान के राष्ट्रपिता हैं। इसके साथ ही चतुर्वेदी ने देश भर में गोडसे और सावरकर की मूर्तियां लगाने की बात कही है। 

सुधाकर चतुर्वेदी का एक वीडियो इस समय सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसमें सुधाकर चतुर्वेदी को यह कहते सुना जा सकता है कि यह देश किसी महात्मा गांधी का नहीं है। गांधी का हिंदुस्तान से कोई संबंध नहीं है। गांधी पाकिस्तान के राष्ट्रपिता हैं।

इतना ही नहीं सुधाकर चतुर्वेदी ने कहा है कि देश में जहां जहां गांधी की मूर्तियां लगी हुई हैं, उन्हें हटाकर गोडसे और सावरकर की मूर्तियां लगाई जानी चाहिए। चतुर्वेदी ने कहा कि देश में गांधी की हजारों मूर्तियां हैं। तब गोडसे और सावरकर की मूर्तियां क्यों नहीं लगा सकती? 

बम ब्लास्ट केस के आरोपी ने कहा कि नाथूराम गोडसे हमारे आदर्श हैं। वह महान क्रांतिकारी और महापुरुष हैं। वीर सावरकर हमारे महापुरुष हैं। अगर उनकी मूर्ति नहीं लगेगी तो किसकी लगेगी। 

यह भी पढ़ें : भारत में मुस्लिम होना बन गया है अपराध, अमेरिकी सांसद ने मोदी सरकार पर लगाया अल्पसंख्यक विरोधी होने का आरोप

सुधाकर चतुर्वेदी का नाता कट्टर हिंदू संगठन हिंदू महासभा से है। यह संगठन भारत की स्वतंत्रता के सबसे बड़े नायक राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को अपना आदर्श मानता है। गांधी के खिलाफ विवादित बयान देने वाला सुधाकर चतुर्वेदी मालेगांव ब्लास्ट केस का आरोपी है। इसी केस में भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर भी आरोपी हैं। फिलहाल प्रज्ञा ठाकुर जमानत पर भारी हैं। प्रज्ञा ठाकुर को भी अक्सर नाथूराम गोडसे को महिमंडित करते देखा गया है।