ऐसा गृह मंत्री कभी नहीं देखा, पीएम केवल भाषण देने में व्यस्त, प्रेस कॉन्फ्रेंस में ममता ने साधा निशाना

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर जमकर हमला बोला

Updated: Nov 27, 2020, 01:22 AM IST

ऐसा गृह मंत्री कभी नहीं देखा, पीएम केवल भाषण देने में व्यस्त, प्रेस कॉन्फ्रेंस में ममता ने साधा निशाना
Photo Courtesy : India Today

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला है। ममता बनर्जी ने गुरूवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अमित शाह पर तंज कसते हुए कहा कि उन्होंने ऐसा गृह मंत्री पहले कभी नहीं देखा। तो वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि वे सिर्फ भाषण देने में व्यस्त रहते हैं।  

ममता बनर्जी ने अमित शाह को लेकर कहा, 'मैंने पहले कभी ऐसा गृह मंत्री नहीं देखा। एक गृह मंत्री को देश चलाना चाहिए। इसके बजाय वो निकाय चुनावों को मैनेज करने में बिजी रहते हैं। लोगों के घरों पर भोजन करने जाते हैं और फोटो खिंचवाते हैं। अपना हमला जारी रखते हुए ममता ने कहा कि देश की हालत देखो और देश की सीमाओं को देखो, देखो अर्थव्यवस्था कहां जा चुकी है। गौरतलब है कि अमित शाह इस महीने की शुरुआत में जब पश्चिम बंगाल के दौरे पर थे तो उन्होंने माटुंगा समुदाय से आने वाले बीजेपी कार्यकर्ता के घर भोजन किया था। एक दिन पहले बांकुड़ा में आयोजित अपनी रैली में ममता बनर्जी ने अमित शाह पर इसी मसले पर हमला बोलते हुए कहा था कि अमित शाह ने खाना तो आदिवासी के घर खाया पर उनका खाना फाइव स्टार होटल से मंगाया गया था, जिसे एक ब्राह्मण कुक ने बनाया था। 

यह भी पढ़ें : Mamata Banerjee: बीजेपी मुझे गिरफ्तार करके दिखाए, मैं जेल से चुनाव जीत लूंगी

सिर्फ भाषण देते हैं पीएम : ममता 
अमित शाह पर हमला बोलने के बाद ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी आड़े हाथों लिया। ममता ने कहा कि पीएम की वैक्सीन को लेकर चर्चा में मैं शामिल हुई। लेकिन वैक्सीन कब आएगी इसके बारे में कोई नहीं जानता। फिर भी प्रधानमंत्री पिछले 6 महीने से केवल भाषण देने में व्यस्त हैं। 

केंद्र सरकार किसानों का अधिकार छीनना चाहती है : ममता 

किसान आंदोलन पर ममता ने कहा कि केंद्र सरकार सभी लोगों के सभी मौलिक अधिकारों पर हमला करना चाहती है। वे किसानों के लोकतांत्रिक अधिकारों पर अंकुश नहीं लगा सकते हैं। ममता ने कृषि कानूनों को अवैध बताते हुए कहा कि अगर कोई कानून किसानों के लिए नहीं है, बल्कि कालाबाजारियों के लिए है, तो यह गैरकानूनी है। केंद्र सरकार किसानों के अधिकार क्यों छीनना चाहती है?

यह भी पढ़ें : तृणमूल को CBI, ED के नाम से धमका रही बीजेपी, क्या यह केंद्रीय एजेंसियों का राजनीतिक इस्तेमाल नहीं

किसानों के बुलावे पर उनके पक्ष में उतरने के लिए तैयार : ममता 

बीजेपी पर हमला बोलते हुए ममता ने कहा,बीजेपी केवल एक आदमी, एक राजनीति, एक नेता चाहती है और कुछ नहीं। देश हम सभी के लिए है। वे स्वतंत्रता संग्राम में कहां भटक रहे थे। उस समय उन्होंने देश के साथ विश्वासघात किया। मैं पूरी तरह से किसानों के साथ हूं। 

मैंने ही एयरपोर्ट का नाम नेताजी बोस के नाम पर रखने की मांग राजीव गांधी से की थी : ममता 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में ममता बनर्जी ने सुभाष चंद्र बोस को भी याद किया। ममता ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं वर्षगाँठ पर राज्य में साल भर चलने वाले कार्यक्रम की घोषणा की है। उनकी सरकार ने साल भर चलने वाले समारोहों की योजना बनाने के लिए एक उच्च स्तरीय समिति भी गठित की है। ममता ने नोबेल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन और अभिजीत बनर्जी को भी इस समिति में शामिल किया है।

ममता ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कि कोलकाता हवाई अड्डे का नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर रखने का फैसला उन्हीं के अनुरोध पर हुआ था। ममता बनर्जी ने कहा कि उन्होंने ही तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी से अनुरोध किया था कि कोलकाता एयरपोर्ट का नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर रखा जाए।