सदन में विपक्ष के विरोध पर पीएम ने कसा तंज, कहा, ये लोग पिछड़ों को मंत्री बनते नहीं देखना चाहते

सदन में विपक्ष जासूसी कांड, महंगाई और किसानों के मुद्दे पर मोदी सरकार का विरोध कर रहे थे, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने चर्चा को मोड़ते हुए विपक्ष पर ही पिछड़ा और दलित विरोधी होने का आरोप लगा दिया, लोकसभा की कार्यवाही को दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है

Updated: Jul 19, 2021, 07:21 AM IST

सदन में विपक्ष के विरोध पर पीएम ने कसा तंज, कहा, ये लोग पिछड़ों को मंत्री बनते नहीं देखना चाहते

नई दिल्ली। संसद के मॉनसून सत्र के पहले दिन सदन में विपक्ष ने मोदी सरकार की नीतियों का जमकर विरोध किया। प्रधानमंत्री मोदी जब अपने मंत्रियों का परिचय करने के लिए उठे तब विपक्ष ने जासूसी कांड, महंगाई और किसानों के मुद्दे पर मोदी सरकार का विरोध शुरू कर दिया।विपक्ष के इस रुख पर पीएम ने चर्चा को दूसरी तरफ ही मोड़ दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि ये लोग पिछड़ों को मंत्री बनते हुए देखना नहीं चाहते हैं। 

दरअसल प्रधानमंत्री मोदी आज अपने मंत्रिमंडल के नए सदस्यों का परिचय दे रहे थे। लेकिन विपक्ष मोदी सरकार की नीतियों का विरोध कर रहा था। विपक्ष के भारी विरोध को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मुझे उम्मीद थी कि सदन में आज उत्साह होगा। इतनी बड़ी संख्या में दलित, पिछड़े, किसानों के परिवार के लोग मंत्री बने हैं। लेकिन ये लोग पिछड़ों को मंत्री बनते हुए देखना ही नहीं चाहते। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह गर्व का विषय है कि ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले लोग आज मंत्री बने हैं। प्रधानमंत्री ने विपक्ष के विरोध पर निशाना साधते हुए कहा कि सदन में इस तरह की नकारात्मक मानसिकता आज से पहले कभी नहीं देखी गई।

यह भी पढ़ें : एमपी उपचुनाव को लेकर एक्शन मोड में आई कांग्रेस, दमोह को दोहराने की है तैयारी

सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने मोदी सरकार पर ताबड़तोड़ हमला बोलना शुरू कर दिया। विपक्ष बारंबार मोदी सरकार की नीतियों का विरोध कर रहा था। प्रधानमंत्री मोदी की टिप्पणी के बाद लोकसभा स्पीकर ने भी विपक्ष के रवैए पर नाराज़गी ज़ाहिर की। इसके बाद लोकसभा की कार्यवाही को दोपहर के दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया। वहीं राज्यसभा की कार्यवाही को भी एक घंटे के लिए स्थगित कर दिया गया।

यह भी पढ़ें : पेगासस स्पाइवेयर के जरिए 40 से अधिक पत्रकारों की हुई जासूसी, फॉरेंसिक टेस्ट के हवाले से रिपोर्ट में दावा

सत्र की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने देश की जनता से जल्द से जल्द टीका लगवाने की अपील की। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जिन लोगों ने अपनी बांह में टीका लगवाया है, वे अब बाहुबली बन गए हैं। कोरोना का खिलाफ बाहुबली बनने का एकमात्र तरीका टीका लगवाना है। पीएम ने कहा कि अब तक चालीस करोड़ से अधिक लोग टीका लगवा कर बाहुबली बन चुके हैं।