अपनी नई पार्टी बना सकते हैं कैप्टन अमरिंदर सिंह, बार बार दिल्ली में हाजिरी देने से नाराज़ चल रहे हैं कैप्टन

नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष बनना चाहते हैं, कैप्टन अमरिंदर सिंह सिद्धू द्वारा बार बार मीडिया में की जा रही अपनी आलोचना से भी काफी आहत हैं

Publish: Jun 22, 2021, 11:29 AM IST

अपनी नई पार्टी बना सकते हैं कैप्टन अमरिंदर सिंह, बार बार दिल्ली में हाजिरी देने से नाराज़ चल रहे हैं कैप्टन

नई दिल्ली/चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस में मचे घमासान के बीच यह दावा किया जा रहा है कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अलग रास्ता अख्तियार कर सकते हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह अब कांग्रेस से अलग होकर अपनी नई पार्टी बनाने पर विचार कर रहे हैं। एक निजी हिंदी न्यूज़ चैनल ने अपने विश्वसनीय सूत्रों के हवाले से यह दावा किया है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस में अपमानित महसूस कर रहे हैं। अगर ऐसा ही चलता रहा तो कैप्टन के सामने नई पार्टी बनाने का विकल्प भी खुला हुआ है। 

दरअसल पंजाब कांग्रेस में जारी तकरार के बीच इस महीने में दो मर्तबा कैप्टन को दिल्ली बुलाया गया है। बारंबार दिल्ली बुलाए जाने से कैप्टन अमरिंदर सिंह न सिर्फ नाराज़ चल रहे हैं, बल्कि वे खुद को अपमानित महसूस कर रहे हैं। मंगलवार को कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पंजाब में मचे घमासान को सुलझाने के लिए गठित किए गए पैनल से मिलने वाले हैं। 

पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनना चाहते हैं सिद्धू 

पंजाब कांग्रेस इस समय नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर सिंह के दो खेमों में बंटी हुई है। सिद्धू चुनाव से ठीक पहले खुद के लिए पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष का पद चाहते हैं। जबकि कैप्टन अमरिंदर सिंह सिद्धू को किसी भी कीमत पर अध्यक्ष पद सौंपे जाने के लिए राज़ी नहीं हैं। 

बीच का रास्ता निकालना चाहते हैं राहुल गांधी 

कैप्टन और सिद्धू के बीच इस तकरार को खत्म करने के लिए राहुल गांधी खुद यह चाहते हैं कि कोई बीच का रास्ता निकाला जा सके। क्योंकि पंजाब में विधानसभा चुनाव अब बिल्कुल सिर पर हैं। ऐसे में ऐसे वक्त में पार्टी में गुटबाजी से कांग्रेस को चुनावों में नुकसान पहुंचने की आशंका है। वहीं पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के बाद सबसे ज़्यादा सीटें हासिल करने वाली आम आदमी पार्टी भी सिद्धू को अपने कुनबे में शामिल करने की फिराक में है।