चिंतन शिविर के बाद बेणेश्वर धाम पहुंचे राहुल गांधी, भाजपा पर जमकर बरसे, कहा- बीजेपी आदिवासियों को दबाने का काम करती है

राहुल गांधी ने कहा, यह दो विचारधाराओं की लड़ाई है, एक तरफ कांग्रेस पार्टी सबको जोड़ कर चलती है और दूसरी तरफ भाजपा है जो सबको कुचलने का काम करती है

Updated: May 16, 2022, 04:46 PM IST

चिंतन शिविर के बाद बेणेश्वर धाम पहुंचे राहुल गांधी, भाजपा पर जमकर बरसे, कहा- बीजेपी आदिवासियों को दबाने का काम करती है
Courtesy: news18

बेणेश्वर। राहुल गांधी चिंतन शिविर के अगले दिन बेणेश्वर धाम में पहुंचे हैं। वहां उन्होंने सभा को संबोधित किया है। संबोधन में राहुल गांधी ने भाजपा पर निशाना साधा। बेणेश्वर धाम में हाई लेवल ब्रिज का शिलान्यास भी किया। साथ ही बेणेश्वर धाम में दर्शन किया। राहुल ने अपना भाषण बुद्ध पूर्णिमा की बधाई देने के बाद शुरू किया। कहा कि मुझे खुशी है कि आज मैंने बेणेश्वर में दर्शन किया। यहां हम पुल का शिलान्यास कर रहे हैं। लाखों आदिवासी हर साल यहां दर्शन करने के लिए आते हैं। बारिश के समय उन्हें मुश्किल होती है, इसलिए इस पूल का निर्माण कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: राजगढ़ में आधी रात तक चलता रहा दलित की बारात का संघर्ष, दिग्विजय सिंह की दख़ल के बाद पुलिस अधिकारियों के संरक्षण में हुई शादी

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि "भाजपा आदिवासियों को दबाने का काम करती है। ये दो विचारधाराओं की लड़ाई है। एक तरफ कांग्रेस पार्टी सबको जोड़ कर चलती है और दूसरी तरफ भाजपा है जो सबको कुचलने का काम करती है। बीजेपी दो हिंदुस्तान बनाना चाहती है। एक अमीर उद्योगपतियों के एक गरीब आदिवासियों का। लेकिन कांग्रेस एक ही हिंदुस्तान के पक्ष में है।

भोपाल में पानी को लेकर मचा कोहराम, पांचवे दिन मिला भी तो गंदा पानी, कांग्रेस ने कहा- बीजेपी हटाओ, मध्य प्रदेश बचाओ

राहुल गांधी ने कांग्रेस और आदिवासियों का गहरा रिश्ता भी जोड़ा। कहा कि हम आपके इतिहास को दबाना नहीं चाहते हैं। हम रक्षा करना चाहते हैं। हमारी यूपीए सरकार के समय आपकी जमीन, जंगल, जल की रक्षा के लिए ऐतिहासिक कानून लेकर आए। इसके साथ ही राहुल गांधी ने अशोक गहलोत सरकार की तारीफ भी की। कहा कि वे उद्योगपतियों के लिए काम नहीं करते, सबके लिए काम करते हैं। भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री ऐसा काम नहीं कर रहे हैं। राहुल गांधी ने भाजपा सरकार पर अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने का आरोप लगाया। कहा कि प्रधानमंत्री ने नोटबंदी की, गलत जीएसटी लागू की, जिससे हमारी अर्थव्यवस्था खराब हो गई। 

यह भी पढ़ें: जयवर्धन सिंह ने गुना कांड पर भाजपा अध्यक्ष को घेरा, बीच में कूद पड़े बीजेपी प्रवक्ता, शुरू हुआ ट्विटर वॉर

दरअसल राहुल का दक्षिण राजस्थान में रैली करना एक सियासी दांव माना जा रहा है। चिंतन शिविर खत्म होने के अगले दिन आदिवासी इलाके में सभा को संबोधित करना अहम राजनीतिक कदम माना जा रहा है। बता दें कि राहुल गांधी की बेणेश्वर धाम में यह पहली रैली नहीं है। लोकसभा 2019 के चुनाव के वक्त भी राहुल यहां रैली कर चुके हैं। हालांकि कांग्रेस को वहां एक भी सीट नहीं मिली थी।