जयवर्धन सिंह ने गुना कांड पर भाजपा अध्यक्ष को घेरा, बीच में कूद पड़े बीजेपी प्रवक्ता, शुरू हुआ ट्विटर वॉर

जयवर्धन सिंह ने कहा, बीडी शर्मा जी, गुना हत्याकांड में महाराज के आदमियों के नाम आते ही पूरी भाजपा को साँप क्यों सूंघ गया। बताइये चुनिंदा लोगों की विशेष दावत में ग्रामीण विकास मंत्री जी के साथ शिकारी क्या कर रहें हैं

Updated: May 16, 2022, 02:56 PM IST

जयवर्धन सिंह ने गुना कांड पर भाजपा अध्यक्ष को घेरा, बीच में कूद पड़े बीजेपी प्रवक्ता, शुरू हुआ ट्विटर वॉर
Courtesy: Bhaskar

भोपाल। गुना हत्याकांड के बाद शुरू हुई सियासत थमने का नाम ही नहीं ले रही है। अब कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पर निशाना साधा है। दरअसल भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने गुना हत्याकांड के बाद अपराधियों का कनेक्शन दिग्विजय सिंह से जोड़ना चाहा था, लेकिन बाद में अपराधियों के साथ भाजपा के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री का फोटो ही वायरल हो गया। 

यह भी पढ़ें: भोपाल में पानी को लेकर मचा कोहराम, पांचवे दिन मिला भी तो गंदा पानी, कांग्रेस ने कहा- बीजेपी हटाओ, मध्य प्रदेश बचाओ

इसी को लेकर जयवर्धन सिंह ने बीडी शर्मा से पूछते बुरे ट्वीट किया कि "क्या हुआ बीडी शर्मा जी गुना हत्याकांड में महाराज के आदमियों के नाम आते ही पूरी भाजपा को साँप क्यों सूंघ गया। बताइये चुनिंदा लोगों की विशेष दावत में ग्रामीण विकास मंत्री जी के साथ शिकारी क्या कर रहें हैं। साहस है तो मंत्री जी का इस्तीफ़ा लीजिये और शहीदों के साथ न्याय कीजिये।" 

 

इसके बाद जयवर्धन सिंह के इसी ट्वीट को रिट्वीट करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा "झूठा आरोप लगा कर मैदान छोड़ कर भाग जाना भाजपा का चरित्र है। साहस है तो आरोपियों के कॉल डिटेल्स निकालें। पता लग जाएगा कौन किसके साथ है।" इसी बीच कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने ट्वीट कर लिखा "पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सांसद माननीय दिग्विजय सिंह जी पर गैर जिम्मेदाराना आरोप लगाने वाले भाजपा के गैर जिम्मेदार अध्यक्ष बीडी शर्मा अपने मंत्री का इस्तीफा कब ले रहे हैं। दो दिन से न तो दिखाई दिए और न ही कहीं पर झूठे प्रवचन देते सुनाई दिए हैं।

 

बस क्या था इस ट्वीटर वॉर में भाजपा के प्रवक्ता हितेश बाजपेयी भी उतर आए। उन्होंने मंगल सिंह गुर्जर नाम के व्यक्ति और जयवर्धन सिंह की एक तस्वीर साझा कर ट्वीट किया कि "ये वो लोग नहीं हैं जिनके माथे पर मध्यप्रदेश के सिपाहियों का रक्त लगा है?,  दिग्विजय सिंह जी बताइए की आपके पुत्र जयवर्धन सिंह गलत राह पर नहीं हैं?" हितेश बाजपेयी के इस ट्वीट का रिप्लाई करते हुए एक ट्विटर यूजर ने लिखा "ये मंगल सिंह गुर्जर जी हमारे क्षेत्र के गुर्जर समाज की शान हैं। ये नादनेर से सरपंच हैं इनका मामले से कोई लेनदेन नही है। बाजपेयी जी ये गुर्जर समाज पर निजी हमला है गुर्जर समाज के प्रतिष्टित परिवारों को टारगेट करना भाजपा को महंगा पड़ेगा।"

 

इस ट्वीट के बाद जयवर्धन सिंह ने कहा "माननीय हितेश जी, इस हत्याकांड को गुर्जर समाज से जोड़ने का कार्य निंदनीय है, इसका जबाब आपको जल्द ही गुर्जर समाज दे देगी।  जिन लोगों और मंत्री ने कातिलों को संरक्षण दिया है आप उसकी बात कीजिये। बता दें कि हितेश बाजपेयी ने एक वनमंडल का पत्र साझा किया जिसके अनुसार, मंगल सिंह गुर्जर पर एक मामले में वन मंडल अधिकारियों के साथ गाली-गलौज और बंधक बनाने का आरोप है।

यह भी पढ़ें: राजगढ़ में आधी रात तक चलता रहा दलित की बारात का संघर्ष, दिग्विजय सिंह की दख़ल के बाद पुलिस अधिकारियों के संरक्षण में हुई शादी

जिसके बाद जयवर्धन सिंह ने कहा कि "जहां तक मंगल सिंह गुर्जर की बात है वो उस समय भोपाल में थे। उनके साक्ष्य आपको भेज रहा हूँ। और मुकदमा कोर्ट में है कोर्ट न्याय करेगा। बाकी इस केस कातिलों के संरक्षकों को बचाने की आपकी कोशिश निंदनीय है।" सिंह ने आगे लिखा कि "माननीय हितेश बाजपेयी जी, विपक्ष में रहने पर कई ऐसे केस झेले जाते हैं, जो राजनीति से प्रेरित होते हैं। असली गुनहगार तो सत्ता की आड़ में मौज करते हैं। कुछ समय पहले कातिल छोड़ दिये गए थे, जबकि उन्हें रंगे हाथ पकड़ा गया था अब वो किसके संरक्षण से बचे ये आप जानते हैं।"

यह भी पढ़ें: गर्मी ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, 49℃ की तपिश से झुलसी दिल्ली, लोगों को सावधानी बरतने की सलाह

गौरतलब है कि गुना जिले के आरोन थाना क्षेत्र के अंतर्गत शिकारियों ने तीन पुलिस कर्मियों की हत्या कर दी थी। हमले में पुलिस वाहन का चालक घायल हो गया था। पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ शिकारी काले हिरण का शिकार कर ले जा रहे हैं। इस मामले में लापरवाही बरतने पर आईजी अनिल शर्मा को हटा दिया गया था।