बीजेपी के 13 और विधायक होंगे सपा में शामिल, शरद पवार का दावा

शरद पवार ने कहा कि उनकी पार्टी गोवा विधानसभा चुनाव में टीएमसी और कांग्रेस के साथ गठबंधन पर विचार कर रही है, एनसीपी नेता ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता इस बार सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को करार जवाब देगी

Publish: Jan 11, 2022, 07:01 PM IST

बीजेपी के 13 और विधायक होंगे सपा में शामिल, शरद पवार का दावा

मुंबई। उत्तर प्रदेश बीजेपी में मचे सियासी भूचाल के बीच एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार की भी एंट्री हो गयी है। शरद पवार ने बीजेपी में बड़े टूट का दावा किया है। शरद पवार ने कहा है कि अभी कम से कम 13 और विधायक बीजेपी का साथ छोड़ेंगे। शरद पवार के इस बयान के बाद उत्तर प्रदेश से लेकर देश भर में सियासी सरगर्मी तेज़ हो गयी है। 

गोवा में कांग्रेस और टीएमसी के साथ गठबंधन की कोशिश जारी 
शरद पवार ने कहा कि गोवा विधानसभा चुनावों में उनकी पार्टी कांग्रेस और टीएमसी के साथ गठबंधन पर विचार कर रही है। एनसीपी सुप्रीमो ने कहा कि गठबंधन के लिये वे दोनों ही पार्टियों से बातचीत कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश का उदाहरण देते हुए शरद पवार ने कहा कि उत्तर प्रदेश में निश्चित तौर पर बदलाव देखने को मिलेगा। वहाँ सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की कोशिश की जा रही है। जिसका यूपी की जनता मुंहतोड़ जवाब देगी। शरद पवार ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता खुद बदलाव की तलाश में है। 

मंगलवार को उत्तर प्रदेश बीजेपी में अचानक भूचाल मच गया। योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने अचानक मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद बीजेपी से किनारा करने वाले विधायकों की झड़ी लग गयी। मंगलवार को ही बीजेपी के तीन अन्य विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। खुद स्वामी प्रसाद मौर्य ने दावा किया है कि अभी कम से कम बीजेपी के एक दर्जन विधायक पार्टी से इस्तीफा देने वाले हैं। 

यह भी पढ़ें ः मौर्य के बाद यूपी बीजेपी में लगी इस्तीफों की झड़ी, 24 घंटे में 5 विधायकों ने छोड़ा पार्टी का साथ

राजनीतिक गलियारों में ऐसी चर्चा है कि योगी सरकार में कुछ अन्य कैबिनेट मंत्री पूर्व सीएम अखिलेश यादव से मुलाकात करने वाले हैं। इन मंत्रियों के सभी सपा में शामिल होने की संभावना है। दूसरी तरफ दिल्ली में बीजेपी के भीतर उथल पुथल मची हुई है। विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पार्टी में हुई बड़ी टूट को लेकर बीजेपी में मंथन जारी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी अपने 45 विधायकों के टिकट काटने की तैयारी कर रही है। जिस वजह से बड़ी संख्या में बीजेपी से विधायकों के किनारा करने संभावना बढ़ गयी है।