मौर्य के बाद यूपी बीजेपी में लगी इस्तीफों की झड़ी, 24 घंटे में 5 विधायकों ने छोड़ा पार्टी का साथ

स्वामी प्रसाद मौर्य के अलावा बीजेपी के तीन अन्य विधायकों ने पार्टी छोड़ दी है, इन सभी के सपा में शामिल होने की चर्चा है, रिपोर्ट्स के मुताबिक योगी सरकार के कुछ मंत्रियों ने अखिलेश यादव से मुलाकात भी की है

Updated: Jan 11, 2022, 06:22 PM IST

मौर्य के बाद यूपी बीजेपी में लगी इस्तीफों की झड़ी, 24 घंटे में 5 विधायकों ने छोड़ा पार्टी का साथ

नई दिल्ली। योगी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद उत्तर प्रदेश बीजेपी में इस्तीफों की झड़ी लग गई है। स्वामी मौर्य के समर्थक तीन अन्य विधायकों ने भी बीजेपी से किनारा कर लिया है। इन सभी के समाजवादी पार्टी में शामिल होने के आसार हैं। इस्तीफा देने वाले विधायकों में भगवती सागर(बिल्हौर, कानपुर), रोशन लाल वर्मा(तिल्हर, शाहजहांपुर) और बृजेश प्रजापति(तिंदवारी, बांदा) शामिल हैं। बदायूं की बिल्सी सीट से विधायक आरके शर्मा ने सोमवार को बीजेपी से इस्तीफा दे दिया था। बीते 24 घंटे में बीजेपी के कुल पाँच विधायक पार्टी को अलविदा कह चुके हैं। खुद स्वामी प्रसाद मौर्य का दावा है कि कम से कम एक दर्जन विधायक बीजेपी से इस्तीफा देंगे। 

उत्तर प्रदेश में बीजेपी के कुनबे पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है। क्योंकि अभी बीजेपी के कई नेताओं के पार्टी छोड़ने के कयास लगाये जा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक योगी सरकार के कुछ मंत्री अखिलेश यादव से मिलने भी पहुँचे हैं। जल्द ही वे लोग भी समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं। 

दूसरी तरफ बीजेपी डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश कर रही है। नाराज़ चल रहे नेताओं को मनाने की ज़िम्मेदारी राज्य के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को सौंपी गई है। केशव प्रसाद मौर्य ने स्वामी प्रसाद मौर्य को नाराज़गी दूर करने के लिये बातचीत का रास्ता अख्तियार करने के लिये कहा है। केशव प्रसाद मौर्य ने स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद ट्वीट करते हुए कहा कि आदरणीय स्वामी प्रसाद मौर्य जी ने किन कारणों से इस्तीफा दिया है मैं नहीं जानता हूँ उनसे अपील है कि बैठकर बात करें जल्दबाजी में लिये हुये फैसले अक्सर गलत साबित होते हैं। 

यह भी पढ़ें ः योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री ने दिया इस्तीफा, दलित पिछड़ों की उपेक्षा का लगाया आरोप

हालांकि इसके बाद एक के बाद इस्तीफे सामने आने के बाद केशव प्रसाद मौर्य ने अखिलेश यादव पर हमला बोलना शुरु कर दिया। डिप्टी सीएम ने कहा कि सत्ता के लालच में माफिया गुंडा दंगाई किसी को भी अखिलेश जी सपा में शामिल कर रहे हैं और लाेगों की सुरक्षा और आस्था से खिलवाड़ करना इनकी पुरानी आदत है। ये नयी नहीं, ये वही सपा है। 

यह भी पढ़ें ः सपा और आरएलडी में हुआ सीटों का बंटवारा, मायावती का चुनाव लड़ने से इनकार

इसके इतर यूपी में जारी घमासान को लेकर बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व में भी असमंजस की स्थिति पनप गयी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विधानसभा चुनाव में विधायकों की जीत को लेकर बीजेपी आश्वस्त नहीं है। लिहाज़ा अगले चुनाव में बीजेपी अपने कम से कम 45 विधायकों के टिकट काटने की तैयारी कर रही है। ऐसे में उत्तर प्रदेश बीजेपी में बड़े टूट की आशंका और भी बढ़ गयी है।