CU के बाद LPU में हंगामा, स्टूडेंट्स ने देर रात किया प्रदर्शन, कैंपस में छात्र की खुदकुशी पर भड़के

छात्रों का कहना है कि 10 दिन में खुदकुशी की यह दूसरी घटना है, यूनिवर्सिटी प्रशासन चुप्पी साधे हुए है, पुलिस पर भी दबाव है, बता दें कि एलपीयू के मालिक अशोक मित्तल को AAP ने राज्यसभा भेजा है

Updated: Sep 21, 2022, 11:39 AM IST

CU के बाद LPU में हंगामा, स्टूडेंट्स ने देर रात किया प्रदर्शन, कैंपस में छात्र की खुदकुशी पर भड़के

जालंधर। मोहाली स्थित चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में MMS कांड का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि जालंधर स्थित लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी (LPU) में बवाल शुरू हो गया। पंजाब के इस नामी यूनिवर्सिटी में सैंकड़ों छात्रों ने रातभर प्रदर्शन किया। दरअसल, यहां एक छात्र के आत्महत्या के बाद तनाव का माहौल उत्पन्न हो गया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक मंगलवार शाम लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में प्रथम वर्ष के एक छात्र ने आत्महत्या कर ली। रिपोर्ट्स के मुताबिक जिस लड़के ने सुसाइड किया वह केरल का रहने वाला था। मृतक की पहचान एस दिलीप कुमार के रूप में हुई है। वह बीकॉम का स्टूडेंट था। संदिग्ध अवस्था में उसने एस-चार बॉयज हॉस्टल में अपनी जान ले ली।

बाकी स्टूडेंट्स को इस बात की खबर हुई तो वे देर रात तक एकजुट हुए और विरोध प्रदर्शन करने लगे। छात्रों का कहना है कि पिछले 10 दिनों में आत्महत्या का यह दूसरा मामला है। छात्रों का आरोप है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन इस मामले में चुप्पी साधे हुए है। देर रात कैंपस में भारी संख्या में स्टूडेंट्स ने इस मसले को लेकर हो-हल्ला और हंगामा काटा।

छात्रों ने कहा कि वे जानना चाहते हैं कि आखिरकार इन सुसाइड के मामलों के पीछे का कारण क्या है। आरोप है कि पिछले वाले मामले को बंद दरवाजे के पीछे ही दबा दिया गया, इसलिए वह सामने नहीं आ सका। छात्र ये भी आरोप लगा रहे हैं कि पुलिस पर भी यूनिवर्सिटी प्रशासन का दबाव है इसलिए मामलों को दबा दिया जा रहा है। बता दें कि एलपीयू यूनिवर्सिटी के मालिक अशोक मित्तल हैं। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार आते ही उन्हें AAP ने अपने कोटे से राज्यसभा का मेंबर बनाया है।

लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी ने छात्र की आत्महत्या पर बयान जारी किया है। इसमें कहा गया है कि शुरुआती जांच और सुसाइड नोट को देखते हुए आत्महत्या का कारण व्यक्तिगत मुद्दों से जुड़ा हुआ है। विश्वविद्यालय आगे की जांच के लिए अधिकारियों को पूर्ण समर्थन प्रदान कर रहा है।फिलहाल ये बच्चे आत्महत्या क्यों कर रहे हैं इसके पीछे उनका व्यक्तिगत कारण है या कुछ और इस बारे में कुछ भी पुख्ता तरीके से नहीं कहा जा सकता है। यूनिवर्सिटी के छात्र इसका अलग-अलग कारण गिना रहे हैं।