योगी सरकार ने बदला झांसी रेलवे स्टेशन का नाम, अब वीरांगना लक्ष्मीबाई स्टेशन कहलाएगा

उत्तरप्रदेश सरकार ने बदला एक और स्टेशन का नाम, झांसी स्टेशन हुआ वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन, सरकार का कहना है कि नाम बदलने से पर्यटन की संभावनाएं बढ़ेंगी

Updated: Dec 30, 2021, 09:53 AM IST

योगी सरकार ने बदला झांसी रेलवे स्टेशन का नाम, अब वीरांगना लक्ष्मीबाई स्टेशन कहलाएगा

झांसी। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार का नाम बदलो अभियान निरंतर जारी है। योगी सरकार ने अब झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदल दिया है। अब से ये स्टेशन वीरांगना लक्ष्मीबाई स्टेशन के नाम से जाना जाएगा। राज्य सरकार का कहना है कि नाम बदलने से क्षेत्र में पर्यटन की संभावनाएं बढ़ेंगी।

योगी सरकार ने नाम बदलने संबंधी एक अधिसूचना जारी कर कहा है कि यूपी में झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर ‘वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन’ कर दिया गया है। इस संबंध में बुधवार को अधिसूचना जारी कर दी गई है। प्रयागराज में उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी शिवम शर्मा ने बताया कि, 'पहले स्टेशन के नाम का कोड बनाकर उसे सिस्टम में अपडेट किया जाएगा। उसके बाद झांसी रेलवे स्टेशन का नाम वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन हो जायेगा। यह काम जल्दी पूरा कर लिया जाएगा।'

बता दें कि प्रदेश सरकार पहले ही तीन प्रमुख रेलवे स्टेशनों का नाम बदल चुकी है। इलाहाबाद को प्रयागराज, मुगलसराय को दीन दयाल उपाध्याय नगर और फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या किया जा चुका है। इतना ही नहीं यूपी से प्रेरणा लेते हुए अन्य बीजेपी शासित राज्यों ने नाम बदलने का खेल शुरू कर दिया है। हाल ही में हबीबगंज को रानी कमलापति जंक्शन करने के बाद मध्य प्रदेश सरकार भी तेजी से नाम बदलो अभियान चला रही है।

यह भी पढ़ें: कालजयी शायर अकबर इलाहाबादी हुए प्रयागराजी, योगी राज में शिक्षा विभाग ने बदले शायरों के नाम

हालांकि, योगी सरकार इसमें भी एक कदम आगे चल रही है। दुकान, मुहल्ले, शहरों और स्टेशनों का नाम बदलने के बाद अब योगी राज में लोगों के नाम भी बदले जाने लगे हैं। इसकी शुरुआत ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ क्रांति की अलख जगाने वाले मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी के नाम को बदलकर की गई है। अकबर इलाहाबादी अब अकबर प्रयागराजी के नाम से जाने जाएंगे। यूपी उच्च शिक्षा विभाग द्वारा किए गए यह कारनामे की खुब आलोचना हो रही है।