किसानों के समर्थन में यूथ कांग्रेस का दिल्ली कूच, 50 हजार कार्यकर्ताओं के साथ संसद घेरने की तैयारी

यूथ कांग्रेस ने 9 फरवरी को संसद घेरने का किया ऐलान, कृषि मंत्री के प्रदेश से जाएंगे 2 हजार युवा

Updated: Feb 02, 2021, 06:27 PM IST

किसानों के समर्थन में यूथ कांग्रेस का दिल्ली कूच, 50 हजार कार्यकर्ताओं के साथ संसद घेरने की तैयारी
Photo Courtesy: The Quint

नई दिल्ली। कृषि कानूनों को लेकर चौतरफा निशाने पर आई केंद्र सरकार की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं। किसानों को रोकने के लिए केंद्र द्वारा की गई किलेबंदी के बाद राष्ट्रीय यूथ कांग्रेस ने किसान आंदोलन को संपूर्ण समर्थन का ऐलान किया है। यूथ कांग्रेस ने केंद्र के विरुद्ध दिल्ली कूच करने की तैयारी कर ली है। युवक कांग्रेस के 50 हजार से ज्यादा कार्यकर्ता आगामी 9 फरवरी को संसद भवन का घेराव करेंगे।

यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी राहुल राव ने बताया है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी के नेतृत्व में 9 फरवरी को पूरे देशभर के युवा राजधानी दिल्ली में एकत्रित होंगे। राव ने कहा, 'हम देश के अन्नदाताओं को इस तरह सड़कों पर मरने नहीं देंगे। केंद्र सरकार ने किसानों और जवानों के बीच जंग जैसी हालात पैदा कर दी है। किसानों के साथ आतंकियों जैसा सलूक हो रहा है। 9 फरवरी को देशभर के करीब 50 हजार युवा दिल्ली जाकर केंद्र सरकार को यह संदेश देंगे की देश में तानाशाही व्यवस्था नहीं चलेगा।' 

कृषि मंत्री के प्रदेश से जाएंगे 2 हजार युवा, तैयारियां पूरी

युथ कांग्रेस के संसद भवन घेराव के लिए अकेले मध्यप्रदेश से 2 हजार कार्यकर्ता दिल्ली कूच करेंगे। मध्यप्रदेश युथ कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने बताया कि दिल्ली कूच की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। उन्होंने कहा, 'प्रदेश युथ कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया के नेतृत्व में प्रदेश से करीब 2000 कार्यकर्ता सड़क व रेल मार्ग से दिल्ली कूच करेंगे। केंद्र सरकार को इस भ्रम में नहीं रहना चाहिए कि वह किसानों को डराकर उनकी जायज अधिकार उनसे छीन लेगी। जबतक किसानों को उनके अधिकार नहीं मिल जाते तबतक हम आंदोलन करते रहेंगे।'

यह भी पढ़ें: किसानों के ख़िलाफ़ दीवार खड़ी करने की बजाय पुल बनाए सरकार, प्रियंका ने पूछा, किसानों से युद्ध की तैयारी है क्या

दिल्ली पुलिस द्वारा सीमाओं पर हुई किलेबंदी को लेकर विवेक त्रिपाठी ने पीएम मोदी को चेतावनी देते हुए कहा की जिन युवाओं की बदौलत वे सत्ता में आए हैं, वही अब उन्हें सत्ता से बाहर निकालेंगे। त्रिपाठी ने कहा, 'दिल्ली से जो तस्वीरें सामने आई हैं उसने युवाओं को आक्रोशित कर दिया है। हम अपने बुजुर्गों पर बल प्रयोग बर्दाश्त नहीं करेंगे। हमें सरकारी कील, स्टील के रॉड, डंडे और गोलियों से डर नहीं लगता। केंद्र चाहे परमाणु हथियार ही क्यों न इस्तेमाल कर ले हम पीछे नहीं हटेंगे और किसानों को उनका अधिकार दिलाने के लिए लड़ते रहेंगे।'

यूथ कांग्रेस ने बीते दिनों राजधानी के इंडिया गेट पर कृषि बिलों के खिलाफ ट्रैक्टर फूंककर हलचल पैदा कर दिया था। ऐसे में माना जा रहा है यूथ कांग्रेस के इस आंदोलन को लेकर सुरक्षा एजेंसियां खासी सतर्क हैं और केंद्र का जोर युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को दिल्ली की सीमा में घुसने से रोकने पर होगा।