बच्चे ने खोजा मैस्टोडॉन का दांत, 12 हजार साल पहले विलुप्त हो गए थे हाथी के पूर्वज

जीवाश्म विज्ञानियों ने जांच में पाया कि यह मैस्टोडॉन का दांत है, जो कि करीब 9 फीट ऊंचे और 11 टन वजन के होते थे, इस मोलर दांत को म्यूजियम में रखा गया है

Updated: Oct 09, 2021, 02:34 PM IST

बच्चे ने खोजा मैस्टोडॉन का दांत, 12 हजार साल पहले विलुप्त हो गए थे हाथी के पूर्वज
Photo Courtesy: twitter

अमोरिका के मिशिगन शहर में एक छोटे से बच्चे के हाथ एक कमाल की चीज लगी है। इस 6 साल के बच्चे को विलुप्त हो चुके मैस्टोडॉन का दांत मिला है। जानकारों का दावा है कि यह हाथियों जैसी दिखने वाली प्रजाति करीब 12 हजार साल पहले पाई जाती थी, जो कि अब विलुप्त हो चुकी है।

 ये मैस्टोडॉन नार्थ और सेंट्रल अमेरिका में घूमा करते थे, ये मैस्टोडॉन वर्तमान समय के हाथियों से काफी हद तक मेल खाते थे। मैस्टोडॉन्स की ऊंचाई साढ़े 9 फ़ीट के आसपास हो सकती थी। वहीं इस विशालकाय जानवर का वजह 11 टन तक होता था। डाइनासोर पार्क में खेलते हुए जूलियन गैगनों को मैस्टोडॉन का जबड़ा मिला। उसे देखकर उसने उठा लिया और घरवालों को दिखाया।

पहले तो उन्हें लगा कि वह ड्रैगन का दांत हैं, बारीकी से जांच करने पर उन्हें समझ आया कि यह कोई सामान्य स्टोन नहीं है। ये एक फॉसिल निकला जो करीब 12 हजार साल पुराना था।

बच्चे के परिवार ने मैस्टोडॉन फॉसिल को एक स्थानीय म्यूजियम में जमा करवा दिया। पहले तो किसी को यकीन ही नहीं हुआ कि यह हजारों साल पुराना फॉसिल है, जो कि इतनी अच्छी हालत में है। फिर इस दांत  की जांच यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन म्यूजियम ऑफ पैलियोंटोलॉजी के वैज्ञानिकों  ने की।

उन्होंने बताया कि यह हाथियों के पूर्वज मैस्टोडॉन का दांत हैं, जो कि करीब 12 हजार साल पहले विलुप्त हो गया था। बच्चे के हाथ लगा दांत मैस्टोडॉन की दाढ़ याने मोलर टीथ हैं। मैस्टोडॉन करीब 3 करोड़ साल पहले मिलते थे, लेकिन करीब 12 हजार साल पहले इनकी प्रजाति विलुप्त हो गई।