शादी के बंधन में बंधा तेलंगाना का पहला गे कपल, पंजाबी और बंगाली परंपरा से निभाई गई रस्में

10 साल के रिलेशन के बाद दो समलैंगिक पुरुषों ने रचाई शादी, हल्दी, मेहंदी, रिंग सेरेमनी की निभाई गई रस्में, माता पिता भी आशीर्वाद देने पहुंचे

Updated: Dec 20, 2021, 02:02 PM IST

शादी के बंधन में बंधा तेलंगाना का पहला गे कपल, पंजाबी और बंगाली परंपरा से निभाई गई रस्में
Photo Courtesy: instagram

हैदराबाद। तेलंगाना में एक गे कपल शादी के बंधन में बंध गया। यहां दो पुरुषों ने शादी रचाई। शादी के बाद कपल ने कहा कि उनकी शादी लोगों को यह संदेश देती है कि खुश रहने के लिए किसी से परमीशन लेने की जरूरत नहीं है। अभय डांग और सुप्रियो चक्रवती करीब 10 साल से रिलेशन में थे। 34 साल के अभय दिल्ली से हैं जबकि 31 साल के सुप्रियो कोलकाता के रहने वाले हैं। दोनों हैदराबाद में नौकरी करते हैं। सुप्रियो होटल मैनेजमेंट से जुड़ें है और अभय एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करते हैं।

 

तेलंगाना के पहले गे कपल की शादी में फैमिली और फ्रेंड्स ने शिरकत की। फिलहाल उनकी शादी का रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है। इनकी शादी बंगाली और पंजाबी रिति-रिवाजों से संपन्न हुई। इस शादी में बैंड-बाजा, मेहंदी, रिंग सेरेमनी जैसी रस्में भी निभाई गई। सुप्रियो और अभय ने एक दूसरे को अंगुठियां पहनाई और उसके बाद एक रिजॉर्ट विवाह की रस्में निभाई गई।

सुप्रियो ने अपने सोशल मीडिया पर शादी की फोटोज शेयर की हैं। शादी के बाद कपल बेहद खुश दिखाई दिया। इस शादी में दोनों की फैमिली के लोग भी पहुंचे थे। उनके परिवारों का कहना है कि इस रिश्ते को मान्यता देने में उन्हें थोड़ा वक्त जरूर लगा लेकिन अपने बच्चों की खुशी में वे खुश हैं। इनकी शादी में करीब 60 से ज्यादा परिवार शामिल हुए और कपल को बधाई दी।

 

कपल ने शादी से पहले बैचलर पार्टी भी की थी। जिसमें दोनों ने ग्रूम टू बी का टैग पहना हुआ था। जिसे सोशल मीडिया पर तरह-तरह के कमेंट्स मिले थे। अभय और सुप्रियो की शादी इनकी दोस्त सोफिया डेविड ने करवाई। सोफिया भी एलजीबीटूक्यू कम्यूनिटी से हैं। भारतीय कानून पति और पति के रूप में उनके रिश्ते को मान्यता नहीं देता है, लेकिन कपल खुद को सोलमेट्स कहते हैं।