बाबुल सुप्रियो ने हनुमा विहारी की आलोचना की तो क्रिकेटर ने कहा बिहारी नहीं विहारी हूं

बाबुल सुप्रियो ने हनुमा विहारी द्वारा सिडनी टेस्ट में खेली धीमी पारी की आलोचना की थी

Updated: Jan 13, 2021, 08:05 PM IST

बाबुल सुप्रियो ने हनुमा विहारी की आलोचना की तो क्रिकेटर ने कहा बिहारी नहीं विहारी हूं
Photo Courtesy : Zee5

नई दिल्ली। क्रिकेटर हनुमा विहारी ने बीजेपी नेता बाबुल सुप्रियो के वार पर करारा पलटवार किया है।  दरअसल सिडनी टेस्ट में हनुमा विहारी ने मुश्किल हालात में धीमी बल्लेबाज़ी ज़रूर की थी, लेकिन भारत को हारने नहीं दिया था। मगर बीजेपी नेता बाबुल सुप्रियो ने हनुमा की तारीफ करने की बजाय उनकी तीखी आलोचना कर दी। इस पर हनुमा विहारी ने उन्हें दो दिन बाद अपने अंदाज़ में जवाब दिया है। 

दरअसल बाबुल सुप्रियो ने हनुमा विहारी की आलोचना करते हुए कहा था कि सिर्फ सात रन बनाने के लिए 109 गेंद खेलने वाले हनुमा ' बिहारी ' ने न सिर्फ भारत की एक ऐतिहासिक जीत दर्ज करने की संभावनाओं को मार दिया, बल्कि क्रिकेट की भी हत्या कर दी। बाबुल सुप्रियो ने आगे लिखा मैं जानता हूं मुझे क्रिकेट के बारे में कुछ नहीं पता। 

बाबुल सुप्रियो ने यह ट्वीट दो दिन पहले किया था लेकिन आज हनुमा विहारी ने बाबुल सुप्रियो को जवाब दिया है। बाबुल सुप्रियो ने हनुमा विहारी की आलोचना करते हुए उनके नाम की स्पेलिंग गलत लिख दी थी। इसलिए क्रिकेटर ने सुप्रियो की आलोचना का सीधे तौर पर जवाब न देते हुए सिर्फ अपने नाम की सही स्पेलिंग बता दी। लोगों को हनुमा विहारी का जवाब देने का यह अंदाज़ काफी पसंद आ रहा है। ' 

क्रिकेटर हनुमा विहारी ने जैसे ही बीजेपी नेता को जवाब दिया वैसे ही भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग उनके समर्थन में आ गए। सहवाग ने लिखा 'अपना विहारी सब पर भारी, जय बांकेबिहारी।' 

 सिडनी टेस्ट को हनुमा विहारी और आर अश्विन दोनों ने क्रीज पर टिके रह कर बचाया था। यह एक हारा हुए मैच था जिसे दोनों क्रिकेटरों ने बचा लिया। दोनों ही खिलाड़ी चोटिल थे और दर्द से कराह रहे थे। हनुमा को खुद हैमस्ट्रिंग में खिंचाव था। उन्होंने खुद कहा था कि अगर उन्हें चोट नहीं लगी होती तो वे निश्चित तौर पर भारत के लिए मैच जिता कर लाते। ऐसे में हनुमा विहारी की उनकी धीमी बल्लेबाज़ी के लिए आलोचना करना हैरान करने वाला है। इससे तो यही समझ में आता है कि या तो बाबुल सुप्रियो ने मैच नहीं देखा था या फिर सच में क्रिकेट के प्रति उनकी समझ शून्य है।