अपनी असली उम्र छिपाते हैं पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज, पूर्व गेंदबाज मोहम्मद आसिफ का आरोप

आसिफ ने कामरान अकमल से कहा कि किसी एक टेस्ट मैच में पाकिस्तानी गेंदबाज को दस विकेट लिए हुए 5 से 6 साल गुजर चुके हैं

Updated: Jan 02, 2021, 06:28 PM IST

अपनी असली उम्र छिपाते हैं पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज, पूर्व गेंदबाज मोहम्मद आसिफ का आरोप
Photo Courtesy: Scroll.in

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज मोहम्मद आसिफ ने पाकिस्तानी तेज़ गेंदबाजों को लेकर बड़ा आरोप लगाया किया है। मोहम्मद आसिफ ने कहा है कि पाकिस्तानी तेज़ गेंदबाज अमूमन अपनी असली उम्र छिपाते हैं। आसिफ ने पूर्व क्रिकेटर कामरान अकमल से एक यूट्यूब शो के दौरान हुई बातचीत में ये खुलासा किया है।

आसिफ ने पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाजों पर आरोप लगाते हुए कहा है कि कागज़ पर इनकी उम्र तो 17-18 वर्ष होती है लेकिन हकीकत में यह 27-28 की उम्र के होते हैं। तभी यह 20-25 ओवर जितने लंबे स्पेल नहीं डाल पाते। पांच छह ओवरों के बाद ही ये इतना थक जाते हैं कि ये मैदान में ठीक से खड़े तक नहीं हो पाते। 

आसिफ ने कहा कि पांच से छह साल का समय बीत चुका है लेकिन अब तक किसी गेंदबाज ने एक मैच में दस विकेट नहीं लिए हैं। मोहम्मद आसिफ ने कहा जब मैं गेंदबाज़ी करने जाता था तो उस समय बिना पांच विकेट लिए गेंद ही नहीं छोड़ता था। लेकिन यहां न्यूजीलैंड में तो हमारे गेंदबाज लार टपकाते नज़र आ रहे हैं। इन्हें इस बात का इल्म ही नहीं है कि गेंदबाज़ी कैसे करनी है। 

किसी समय मोहम्मद आसिफ पाकिस्तान और विश्व क्रिकेट के उभरते हुए गेंदबाजों में से एक थे। आसिफ ने 23 टेस्ट मैचों में 108 विकेट भी झटके थे। लेकिन 2010 में इंग्लैंड दौरे के दौरान स्पॉट फिक्सिंग में नाम आने के बाद उनका करियर तबाह हो गया। स्पॉट फिक्सिंग में आसिफ के साथ साथ सलमान बट्ट और मोहम्मद आमिर का भी नाम आया था। आसिफ पर आईसीसी ने सात साल का प्रतिबंध भी लगा दिया था। इसके साथ ही उन्हें एक साल की सज़ा भी हुई थी। 

शाहिद अफरीदी मान चुके हैं उम्र छिपाने की बात 

खिलाड़ियों द्वारा अपनी असली उम्र छिपाने जैसी अटकलें हमेशा क्रिकेट जगत में चर्चा में रही हैं। ज़्यादातर खिलाड़ी जूनियर टीम में जगह पाने के लिए ऐसा करते हैं। हालांकि कोई सीधे तौर पर यह बात स्वीकार नहीं करता। लेकिन पाकिस्तान के ही पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने अपनी आत्मकथा गेम चेंजर में अपनी असली उम्र का खुलासा किया है। अफरीदी ने अपनी आत्मकथा में लिखा है कि क्रिकेट में उन्होंने अपनी उम्र पांच साल कम करके बताई थी। क्रिकेट के रिकॉर्ड्स में अफरीदी का जन्म 1979 में बताया जाता है। लेकिन संन्यास लेने के बाद उन्होंने अपनी आत्मकथा में बताया कि वे दरअसल 1975 में पैदा हुए थे।