गरीब किसान ने गोबर की कमाई से सीएम भूपेश बघेल को दिया इनाम, सीएम ने कहा यह हमारे अच्छे काम की तस्दीक़ है

कोरबा के आदिवासी किसान ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को दिया 200 रुपए का इनाम, कहा गोबर बेचकर कमाए हैं 32 हजार, दो सौ का इनाम देना चाहता हूं,

Updated: Jan 06, 2021, 11:31 PM IST

गरीब किसान ने गोबर की कमाई से सीएम भूपेश बघेल को दिया इनाम, सीएम ने कहा यह हमारे अच्छे काम की तस्दीक़ है
Photo Courtesy: twitter

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को एक गरीब ने 200 रूपये का पुरस्कार दिया है। कोरबा जिले के किसान नारायण सिंह ने मुख्यमंत्री को यह पुरस्कार गोबर बेचकर हुई अपनी आमदनी से खुश होकर दिया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 200 रुपए के इस इनाम को अपने नेक काम का प्रमाण बताते हुए ट्वीट किया है। मुख्यमंत्री ने खुशी का इजहार करते हुए ट्वीट किया है कि यदि लोगों से सम्मान मिलता है तो खुशी होती है, और इस बात की तसल्ली भी की हम सही काम कर रहे हैं।

 

दरअसल कोरबा के पाली तानाखार के ग्राम पोलमी में मुख्यमंत्री का दौरा था। वहां एक आदिवासी किसान ने उनसे मुलाकात की। किसान ने मुख्यमंत्री को खुश होकर बताया कि उसने गोधन न्याय योजना के तहत गोबर बेचकर 32 हजार रुपए कमाए हैं। उसमे में से दौ सौ रुपए सीएम भूपेश बघेल को भेंट करने की मंशा जाहिर की, जिसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उसकी इच्छा का सम्मान करते हुए उससे इनाम के दौ सौ रुपए ले लिए और किसान का धन्यवाद किया। आदिवासी किसान का कहना है कि गरीब किसानों के लिए यह योजना बड़ी कारगर है।

इतना ही नहीं किसान नारायण सिंह ने कहा कि गोधन न्याय योजना की वजह से गोबर बेचकर जो राशि मिलती है उससे घर चलाने में आसानी होती है। गोबर बेचने से उनकी आय बढ़ी है। उससे उनकी जिंदगी की कई परेशानियां कम होने लगी हैं। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ देश का इकलौता राज्य है जहां सरकार गोबर खरीद कर लोगों के लिए आय का जरिया उपलब्ध करवा रही है। इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ कोरबा के पाली तानाखार के विधायक मोहित राम केरकेट्टा भी मौजूद थे।  

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में गोधन न्याय योजना के तहत सरकार पशुपालकों से 2 रुपये प्रति किलो की दर से गोबर खरीदती है। जिससे वर्मीकम्पोस्ट, जैविक खाद बनाया जाता है।