राहुल गांधी ने वित्त मंत्री के आर्थिक पैकेज को बताया ढकोसला, कहा, कोई परिवार इसे अपने खाने और दवा पर खर्च नहीं कर सकता

कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ ने भी सोमवार को वित्त मंत्री की घोषणा पर निशाना साधते हुए कहा कि वित्त मंत्री को आर्थिक समझ नहीं है, ऐसे वक्त में जब लोगों को मदद की दरकार है, वित्त मंत्री उन्हें कर्ज़ की खुराक दे रही हैं

Publish: Jun 29, 2021, 11:52 AM IST

राहुल गांधी ने वित्त मंत्री के आर्थिक पैकेज को बताया ढकोसला, कहा, कोई परिवार इसे अपने खाने और दवा पर खर्च नहीं कर सकता
Photo Courtesy: The Financial Express

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के आर्थिक पैकेज की घोषणा के बाद कांग्रेस ने उन्हें घेरना शुरू कर दिया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने वित्त मंत्री के आर्थिक पैकेज को ढकोसला करार दिया है। राहुल गांधी ने कहा है कि कोई व्यक्ति इस आर्थिक पैकेज को अपने परिवार के खाने, दवा और बच्चों की पढ़ाई पर खर्च नहीं कर सकता। इसलिए यह पैकेज नहीं बल्कि एक ढकोसला मात्र है। 

राहुल गांधी ने वित्त मंत्री के आर्थिक पैकेज की अपने ट्विटर हैंडल पर आलोचना करते हुए कहा कि 'FM के ‘आर्थिक पैकेज’ को कोई परिवार अपने रहने-खाने-दवा-बच्चे की स्कूल फ़ीस पर ख़र्च नहीं कर सकता।पैकेज नहीं, एक और ढकोसला!'

वहीं कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ ने भी वित्त मंत्री के आर्थिक पैकेज की जमकर आलोचना की। गौरव वल्लभ ने तो यहां तक कहा कि वित्त मंत्री को आर्थिक समझ ही नहीं है। कांग्रेस नेता ने कहा कि ऐसे वक्त में जब लोगों को आर्थिक मदद की दरकार है, तब वित्त मंत्री ने लोगों को कर्ज़ की खुराक देने का काम किया है। 

यह भी पढ़ें : कोरोना प्रभावित सेक्टर को 1.1 लाख करोड़ के लोन की गारंटी देगी सरकार, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया एलान

दरअसल सोमवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कांफ्रेंस की। जिसमें वित्त मंत्री ने कोरोना प्रभावित सेक्टर्स को 1.1 लाख करोड़ तक का लोन देने का एलान किया। इसमें हेल्थ सेक्टर को 7.95 फीसदी की ब्याज दर पर लोन की घोषणा की। बाकी सेक्टर्स को अधिकतम 8.25 फीसदी ब्याज दर पर 60 हजार करोड़ तक का लोन देने की घोषणा की गई। जबकि कांग्रेस लगातार कोरोना काल की शुरुआत से ही गरीब तबके लोगों के खातों में पैसे पहुंचाने की मांग कर रही है, ताकि वंचित तबके के लोगों को कोरोना की लड़ाई लड़ने में मदद मिल सके।